Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

अनंतनाग में हुए हमले में शहीद हुए हैं ये जवान

JK24x7NEWS.TV JK24x7NEWS.TV JK24x7NEWS.TV

दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में बुधवार को आतंकियों के हमले में CRPF के पांच जवान शहीद हो गए। आतंकियों ने CRPF की पेट्रोलिंग पार्टी पर पहले अंधाधुंध गोलियां बरसाईं फिर ग्रेनेड हमला किया। हमले में अनंतनाग के SHO भी गंभीर रूप से घायल हो गए। मौके पर मौजूद एक महिला को भी चोट पहुंची है। जवाबी कार्रवाई में एक पाकिस्तानी हमलावर आतंकी मारा गया। घटना की जिम्मेदारी आतंकी संगठन अल उमर मुजाहिदीन ने ली है। हालांकि, कहा जा रहा है कि इसमें जैश-ए-मोहम्मद का हाथ है।

घटना व्यस्ततम खन्नाबल-पहलगाम रोड पर अनंतनाग बस स्टेशन से एक किलोमीटर दूर महिला कालेज के पास की है। बताते हैं कि मोटरसाइकिल सवार दो आतंकियों ने वहां पेट्रोलिंग पार्टी को निशाना बनाकर अंधाधुंध फायरिंग की। इससे मौके पर ही एक जवान की मौत हो गई जबकि कुछ अन्य घायल हो गए। CRPF 116 बटालियन तथा पुलिस की संयुक्त पिकेट भी वहां तैनात रहती है। 

गोलियों की आवाज सुनकर SHO तथा डिवीजनल अफसर रक्षक वाहन से वहां पहुंचे तो आतंकियों ने दोनों गाड़ियों को निशाना बनाकर ग्रेनेड दागे। SHO की गाड़ी से टकराकर ग्रेनेड फट गया, जिसमें SHO अरशद खान घायल हो गए। डिवीजनल अफसर की गाड़ी को निशाना बनाकर दागा गया ग्रेनेड नहीं फटा। घटना के बाद एक आतंकी मौके से भाग निकला। 

सूत्रों के अनुसार, हमले में घायल जवानों को तत्काल अस्पताल ले जाया गया जहां पांच ने दम तोड़ दिया। सूत्रों के अनुसार, हमले में एएसआई रमेश कुमार ( झज्जर, हरियाणा), निरोद शर्मा (नलबारी, असम), कांस्टेबल सत्येंद्र कुमार (मुजफ्फर नगर, उत्तर प्रदेश), महेश कुमार कुशवाहा (गाजीपुर, उत्तर प्रदेश) व संदीप यादव (देवास, मध्य प्रदेश) शहीद हो गए। घायलों में SRPF के हेड कांस्टेबल राजेंदर, कांस्टेबल प्रेमचंद्र कौशिक, कांस्टेबल केदार नाथ ओझा शामिल हैं। हालांकि, पुलिस की ओर से इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। SHO को गंभीर अवस्था में सेना के श्रीनगर स्थित 92 बेस अस्पताल में ले जाया गया है। सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। इलाके में व्यापक पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

एक जुलाई से शुरू हो रही अमरनाथ यात्रा के पहले अनंतनाग में हुए हमले को लेकर सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। इसी रास्ते से होकर अमरनाथ यात्री पहलगाम जाते हैं। इस वजह से सुरक्षा एजेंसियों की चिंता अधिक है। घटना के बाद पूरे इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। नाके लगाकर जगह-जगह चेकिंग की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि खुफिया एजेंसियों की ओर से बस स्टैंड के आस-पास सुरक्षा बलों पर हमले का इनपुट पहले ही दिया गया था। 

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला तथा महबूबा मुफ्ती ने हमले की कड़ी निंदा की है। दोनों ने शहीदों के परिवार के प्रति सहानुभूति जताते हुए कहा कि इस प्रकार के बर्बरतापूर्ण हमले की जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की। 
 

14 फरवरी 2019 : दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा में CRPF की कानवाय पर फिदायीन हमला, 40 जवान शहीद।


30 मार्च 2019 : जम्मू संभाग के बनिहाल के पास जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर CPRF की कानवाय पर फिदायीन हमले की कोशिश, नुकसान नहीं।

 

Rate this item
(0 votes)
Last modified on Thursday, 13 June 2019 13:34