Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

राफेल की पूजा पर गरमाई सियासत

हमेशा विवादों में रहने वाला पहला फ्रांसीसी लड़ाकू विमान राफेल 8 अक्टूबर को भारत को मिल गया। कांग्रेस राफेल का सौदा होने के बाद केंद्र सरकार पर हमेशा से हमलावर रही है। 2019 चुनाव में कांग्रेस का यही चुनावी मुद्दा था। बहरहाल मंगलावार को भारतीय बेड़े में लड़ाकू विमान राफेल शामिल हो गया है।

अब भारत को राफेल मिलने के बाद एक बार फिर विवादों में आ गया। दरअसल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस में शस्त्र पूजा करने के साथ ही राफेल विमान को रिसीव किया, इस दौरान राफेल पर नारियल चढ़ाया, 'ऊँ' का निशाना बनाया और राफेल के पहियों के नीचे नींबू दिखाई दिए।

रक्षामंत्री द्वारा की गई इस पूजा पर कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने निशाना साधते हुए सवाल खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि, आखिर इसे रक्षा मंत्री ने क्यों रिसीव किया, ये काम वायुसेना ही कर सकती थी। उन्होंने कहा कि ये सिर्फ एक नया लड़ाकू विमान ही है जो हमें मिल रहा है।

आपको बता दें कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को फ्रांस में राफेल विमान उड़ाया और भारत के लिए इसे रिसीव भी किया। ऐसा पहली बार हुआ कि जब किसी बड़े लड़ाकू विमान की भारतीय खेमे में एंट्री इस तरह हुई, जब पूरी दुनिया भारत की शस्त्र पूजा को देख रही थी।

Rate this item
(0 votes)
Last modified on Wednesday, 09 October 2019 17:19