इंफाल: मणिपुर विश्वविद्यालय परिसर में कल हुए आंदोलन के मद्देनजर संस्थान के 89 छात्रों और छह शिक्षकों को शुक्रवार तड़के गिरफ्तार कर लिया गया. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घटना को लेकर ‘गलत सूचना और अफवाहों’ के प्रसार को अगले पांच दिनों तक रोकने के लिए राज्य में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी है. आईजीपी एल कैलुन ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नवनियुक्त कार्यवाहक कुलपति के युगिन्द्रो सिंह द्वारा दायर एक शिकायत के आधार पर अधिकारियों की एक टीम ने विश्वविद्यालय छात्रावास और आवासीय परिसरों में देर रात एक बजे छापामारी की और छात्रों एवं शिक्षकों को हिरासत में ले लिया गया. आपको बता दें कि मणिपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एपी पांडे को उनके खिलाफ चल रही जांच के पूरा होने तक बीते 18 सितंबर को निलंबित कर दिया गया था.

अधिकारियों ने बताया कि विश्वविद्यालय के विजिटर होने के नाते राष्ट्रपति ने पांडे को निलंबित किया. मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक आदेश में कहा है, ‘‘परिसर में कानून और व्यवस्था के उल्लंघन को ध्यान में रखते हुये पांडे को जांच पूरी होने तक निलंबित किया गया है’’. मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग के उप सचिव के हस्ताक्षर वाले निलंबन आदेश में कहा गया है, ‘‘मणिपुर सरकार ने सूचना दिया है कि पांडे के खिलाफ आंदोलन से राज्य में कानून एवं व्यवस्था के समक्ष गंभीर समस्या और प्रशासनिक संकट खड़ा हो गया है’’. इस बीच, मंत्रालय द्वारा गठित दो सदस्यीय स्वतंत्र समिति ने पांडे की कथित प्रशासनिक और वित्तीय अनियमितताओं की जांच छह सितंबर से शुरू कर दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here