भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने कोविड-19 का स्वदेशी टीका चिकित्सकीय उपयोग के लिए 15 अगस्त तक उपलब्ध कराने के मकसद से चुनींदा क्लिनिक और अस्पतालों से कहा है कि वे भारत बॉयोटेक के सहयोग से विकसित किए जा रहे संभावित टीके ‘कोवैक्सीन’ को परीक्षण के लिए मंजूरी देने की प्रक्रिया तेज करें।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने हैदराबाद की भारत बायोटेक इंटरनेशनल लिमिटेड ने मिलकर जिस वैक्सीन को बनाया है वैक्सीन का नाम BBV152 कोविड वैक्सीन रखा गया है। यह पूरी तरह से स्वदेशी है।

ICMR के एक्सर्ट्स ने बताया है कि कोरोना वायरस की वैक्सीन को क्लीनिकल ट्रायल के बाद 15 अगस्त को लॉन्च किया जा सकता है। इस काम को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए ICMR ने सभी स्टेकहोल्डर्स को पत्र लिखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here