दिल्ली की ऐतिहासिक जामा मस्जिद को सामूहिक तौर पर नमाज अदा करने के लिए 4 जुलाई को खोल दिया जाएगा। मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

इससे पहले 11 जून को दिल्ली में कोविड-19 के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी के कारण गंभीर हालात के मद्देनजर मस्जिद को 30 जून तक बंद कर दिया गया था। बुखारी ने कहा कि मस्जिद को दोबारा खोलने का फैसला लोगों और विशेषज्ञों के साथ विचार-विमर्श के बाद लिया गया।

बुखारी ने कहा कि अनलॉक-1 के तहत लगभग सब कुछ खुल गया है और सामान्य गतिविधियां भी शुरू हो चुकी हैं। हमने लोगों द्वारा नमाज अदा किए जाने को लेकर मस्जिद खोलने का निर्णय लिया है, क्योंकि वायरस से बचाव से जुड़े सुरक्षा उपायों को लेकर जागरूकता बढ़ी है तथा लोगों को संक्रमण की चपेट में आने से बचने के लिए शारीरिक दूरी और मास्क पहनने जैसे ऐहतियाती नियमों का पालन करना होगा।

शाही इमाम के निजी सचिव अमानुल्लाह की इस महीने की शुरुआत में कोरोनावायरस संक्रमण से मृत्यु हो गई थी। इसके बाद लोगों को घर पर नमाज अदा करने के लिए कहा गया था। हालांकि मस्जिद के कुछ कर्मचारियों को इसके अंदर 5 वक्त की नमाज अदा करने की अनुमति दी गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here