कोरोना वायरस संकट के बीच महाराष्ट्र की राजनीति हर पल नया मोड़ ले रहीं है। पिछले कई दिनों से राज्य में सियासी उठापठक चल रही है। बीजेपी लगातार राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग रही है. बीजेपी का आरोप है कि उद्धव सरकार कोरोना का सामना करने में नाकाम साबित हो रही है। इस बीच आज मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सुबह 11 बजे शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन के नेताओं की बैठक बुलाई है। खबर ये भी है कि विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले कल दिल्ली पहुंचे हैं। पिछले तीन दिनों में शिवसेना, एनसीपी नेताओं की राज्यपाल से हो रही मुलाक़ातें और दोनों पार्टियों के नेताओं के बीच हो रही गुप्त बैठकों ने गठबंधन की सरकार पर कांग्रेस के महत्व पर सवाल खड़े कर दिए हैं। वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के बयान से भी साफ हो गया है कि कांग्रेस की गठबंधन की इस सरकार में बन रहने की ज़्यादा दिलचस्पी नहीं है। ऐसे में क्या कांग्रेस को अलग रखकर शिवसेना-एनसीपी, बीजेपी के साथ सरकार बनाने के तरफ़ बढ़ रहे हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here