प्राइवेट ट्रेन चलाने को लेकर पिछले कुछ समय से रेलवे के निजीकरण की बहस शरू है। इसी बीच बुधवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल इस मुद्दे पर बयान देते हुए कहा कि रेलवे का किसी भी प्रकार से निजीकरण नहीं किया जा रहा है। वर्तमान में चल रही रेलवे की सभी सेवाएं पहले की तरह ही जारी रहेंगी। गोयल ने कहा कि गरीबों के लिए ट्रेनें पहले से ही हैं। उन्होंने कहा कि उड़ान के क्षेत्र में निजी कंपनियों के प्रवेश के बाद हवाई किराया में गिरावट आई।

पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप का उल्लेख प्रत्येक बजट में किया जाता है। 2004 से 2014 के बीच भी इसका उल्लेख किया गया। 2005 के बजट भाषण में पी चिदंबरम ने कहा था कि सरकार निजी क्षेत्र की अग्रणी भूमिका को मान्यता देगी और सहायक नीति व वातावरण प्रदान करेगी।

https://twitter.com/ANI/status/1280905109531062272?s=19

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here