शतकीय पारी और शानदार गेंदबाजी, तीसरा टेस्ट रहा ड्रा, ये है वजह

-अब्दुल नबी हसन 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टेस्ट मैच ड्रा रहा, और ये ड्रा कराया है चेतेश्वर पुजारा और ऋषभ पंत की शतकीय पारी की बदोलत,  साथ टीम इंडिया ने  ऑस्ट्रेलिया पर मनोवैज्ञानिक बढ़त जरुर हासिल कर ली है,

विहारी ने पांव की मांसपेशियों में खिंचाव आने के बावजूद अश्विन के साथ अंतिम सत्र में आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की हर रणनीति को नाकाम करके उसकी जीत की उम्मीदों पर पानी फेरा. हनुमा ने लगभग चार घंटे क्रीज पर बिताकर अपने नाबाद 23 रनों के लिए 161 गेंदें खेलीं, जबकि अश्विन ने 128 गेंदों पर नाबाद 38 रन बनाए.

दोनों ने लगभग 42 ओवरों का सामना करके छठे विकेट के लिए 62 रन जोड़े. इससे पहले पुजारा ने 205 गेंदों पर 77 रन बनाए थे, जबकि विहारी से पहले बल्लेबाजी के लिये भेजे गये पंत ने आक्रामक अंदाज दिखाकर 118 गेंदों पर 12 चौके और 3 छक्के की मदद से 97 रन बनाए. इन दोनों ने चौथे विकेट के लिए 148 रन जोड़े.

भारत ने 407 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए आखिर में 131 ओवरों में पांच विकेट पर 334 रन बनाए. जब मैच में एक ओवर बचा हुआ था तब दोनों टीमें ड्रॉ पर सहमत हो गईं. ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 338 रन बनाए थे और दूसरी पारी छह विकेट पर 312 रन बनाकर समाप्त घोषित की.

भारत ने पहली पारी में 244 रन बनाए थे. रोमांच की पराकाष्ठा पर पहुंचे इस मैच के ड्रॉ होने के बाद चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबरी पर है. अब ब्रिस्बेन में 15 जनवरी से शुरू होने वाला चौथा और अंतिम टेस्ट मैच निर्णायक बन गया है.

सिडनी टेस्ट के बाद आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में ऑस्ट्रेलिया और भारत शीर्ष दो स्थानों पर बरकरार रहे. भारत और न्यूजीलैंड के बीच 0.2% का फासला है.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *