शुरू हुआ साल का आखिरी सूर्यग्रहण, दिखा अद्भुत नजारा

Spread the love

आज साल 2019 का आखिरी सूर्य ग्रहण शुरू हो चुका है। यह सूर्य ग्रहण कई मायनों में खास बताया जा रहा है। यह पूर्ण सूर्य ग्रहण नहीं होगा। इस बार चंद्रमा की छाया सूर्य का पूरा भाग नहीं ढक पाएगी। इस ग्रहण में सूर्य का बाहरी हिस्सा प्रकाशित रहेगा। देश के अलग-अलग हिस्सों में सूर्यग्रहण देखा जा रहा है। सूर्यग्रहण सुबह 8 बजकर 17 मिनट से शुरू होकर 10 बजकर 57 मिनट तक चलेगा। यह खंडग्रास सूर्यग्रहण है और यह सूर्य ग्रहण आज पौष मास की अमावस्या पर लगा है। केरल, गुजरात, ओडिशा समेत देश के कई शहरों में सूर्यग्रहण देखा जा रहा है।

यह ग्रहण धनु राशि और मूल नक्षत्र में होगा। सूर्य के साथ केतु, बृहस्पति और चंद्रमा आदि ग्रह होने से ज्योतिष में इस कल्याणकारी योग का विशेष लाभ मिलेगा। साल के इस आखिरी सूर्य ग्रहण को वैज्ञानिकों ने ‘रिंग ऑफ फायर’ का नाम दिया है। बता दें कि इससे पहले इस साल 6 जनवरी और 2 जुलाई को आंशिक सूर्य ग्रहण लगा था। सूर्यग्रहण एक प्राकृतिक खगोलीय घटना है जिसमें सूर्य और पृथ्वी के मध्य में चंद्रमा आ जाता है। दक्षिण भारत इस यादगार खगोलीय घटना के मामले में भाग्यशाली होगा, क्योंकि यहां लोग पूर्ण सूर्यग्रहण देखेंगे।

क्यों खास है ये सूर्य ग्रहण?

इस साल का आखिरी सूर्य ग्रहण एक आग की अंगूठी की तरह नजर आने वाला है। इस ग्रहण में सिर्फ सूरज का मध्य भाग ही छाया के क्षेत्र में आता है जबकि सूर्य के बाहर का क्षेत्र प्रकाशित रहता है। इस साल के तीसरे सूर्य ग्रहण को वैज्ञानिकों ने वलयाकार ग्रहण बताया है। वलयाकार ग्रहण में सूर्य पर पूरी तरह से ग्रहण नहीं लगता है।

बिना सुरक्षा उपायों के नहीं देखें सूर्यग्रहण

सूर्यग्रहण को नग्न आंखों से देखने पर सूर्य का तेज उन्हें नुकसान पहुंचा सकता है। ग्रहण देखने के लिए केवल ऐसे चश्मे उपयोग किए जाने चाहिए, जो आईएसओ 12312-2 सर्टिफाइड हों। यह सुझाव अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने दिया है। हालांकि वेल्डिंग के दौरान उपयोग होने वाले चश्मे या पिनहोल प्रोजेक्टर के जरिये भी सूर्यग्रहण देखा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *