सूर्यास्त के बाद भूलकर भी न करें इन चीजों का दान, हो सकता है भारी नुकसान

-करिश्मा राय तंवर

 

भारत में हर धर्म की अपनी-अपनी विशेषताएं होती हैं. लेकिन इन सभी धर्मों में एक सामान्य बात है दान देना. हमारे देश में जरूरतमंदों को दान देने की परंपरा पुराने समय से चली आ रही है. धार्मिक मान्यताओं की मानें तो दान देने से हमें पुण्य मिलता है. लेकिन दान देना हर समय शुभ नहीं होता है. कभी-कभी गलत समय पर दिया गया दान आपके लिए बर्बादी का कारण भी बन सकता है. ऐसा ही एक समय है सूर्यास्त.. ऐसा कहा जाता है कि डूबते हुए सूर्य के समय कुछ तरह के दान नहीं करने चाहिए.

 

ऐसे अगर आप अपने घर की बरकत चाहते हैं तो आपके लिए दान देने का समय जानना चाहिए और साथ में ये भी जानें की इस समय किन चीजों का दान करना चाहिए और किन चीजों का नहीं.

 

शाम को ना करें दूध का दान

दूध का संबंध चन्द्रमा और सूर्य दोनों से है. लक्ष्मी और विष्‍णु जी के साथ दूध का संबंध प्राचीन समय से माना गया है. दिन-रात के संधि काल में दूध किसी को भी दान या नहीं देना चाहिए. ऐसा कहा जाता है कि दूध शाम के समय देने से बरकत चली जाती है.

 

दही से शुक्र का संबंध

ज्योतिशास्‍त्र में कहा गया है कि शुक्र से दही का संबंध है. दही सुख और वैभव देती है. इसलिए कहते हैं कि दही किसी को भी सूर्यास्त के समय नहीं देनी चाहिए. ऐसा करने से सुख और वैभव की भी कमी जीवन में हो जाती है.

 

शाम को प्याज-लहसुन भी न दें

इसके अलावा शाम के समय किसी को भी प्याज-लहसुन देने से बचना चाहिए. इनका संबंध केतु ग्रह से होता है जोकि ऊपरी ताकतों का स्वामी कहलाता है. कहा जाता है कि इसका संबंध जादू-टोने से भी होता है.

 

शास्‍त्रों में कहा गया है कि दान करना बहुत शुभ होता है. हालांकि कुछ ऐसी भी चीजें हैं जिन्हें दान में देना आपके लिए हानिकारक हो सकता है. इन चीजों को दान में देने से आपके घर से धन-सपंत्ति कम हो जाती है. भूलकर भी इन चीजों को शाम को दान में नहीं देना चाहिए.

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *