पंजाब में स्वास्थ्य ढांचे की मजबूती के लिए 107 नए स्वास्थ्य केन्द्रों का किया आगाज़

Share

-नवदीप छाबड़ा 

 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा आज दिल्ली में बड़े पैमाने पर बढ़ रहे कोविड मामलों से निपटने में हर संभव सहायता देने की पेशकश की गई और मुख्यमंत्री ने राज्य में महामारी की रोकथाम में बेमिसाल काम कर रहे पंजाब के कोविड योद्धओं की दिल से सराहना की। उन्होंने भरोसा दिया कि कोविड महामारी की दूसरी लहर के खि़लाफ़ तैयारी के ख़ातिर स्वास्थ्य सुविधाओं की मज़बूती के लिए पंजाब सरकार पूरी तरह तैयार है।
पंजाब में कोविड की दूसरी लहर से निपटने के लिए पंजाब सरकार द्वारा हर संभव कदम उठाने का भरोसा देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘दिल्ली सख़्त लड़ाई लड़ रही है और ज़रूरत पडऩे पर हम हर सहायता के लिए तत्पर हैं। मैं यह पहले कह चुका हूँ’’। मुख्यमंत्री ने सचेत करते हुए कहा यह कोई नहीं जानता कि पंजाब में दूसरी लहर कब आएगी, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एन.सी.आर) और अन्य राज्यों/क्षेत्रों के तजुर्बे दिखाते हैं कि यह संभावित तौर पर यह ज़रूर घटेगा। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग और ओ.टी.एस. मुलाजि़मों पर पूरा विश्वास जताया कि वह इस चुनौती के खि़लाफ़ फिर पूरी एकजुटता से लड़ेंगे।
स्वास्थ्य कर्मचारियों और अगली कतार के मुलाजि़मों, जिनमें बहुत से ख़ुद कोविड से प्रभावित हुए और कोविड ने कईयों की जान भी ले ली, की हर सहायता करना राज्य सरकार की जि़म्मेदारी है, यह कहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आम लोगों की भी यह जि़म्मेदारी बनती है कि वह इस महामारी के खि़लाफ़ राज्य सरकार का साथ देते हुए सभी सुरक्षा नियमों की पालन करें। उन्होंने आने वालेे कुछ महीनों के लिए, जब तक कोविड की दवा नहीं आ जाती,‘मास्क ही दवा है’ को मिशन फतेह के संकल्प के तौर पर घोषित किया।
राज्य में स्वास्थ्य ढांचे की मज़बूती और राज्य के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में मरीज़ों के घरों तक स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच करवाने के लिए 107 तंदुरुस्त पंजाब स्वास्थ्य केन्द्रों का डिजीटली आग़ाज़ करते हुए मुख्यमंत्री द्वारा स्वास्थ्य एवं मैडीकल शिक्षा विभागों के यत्नों की सराहना की गई, जिन्होंने केवल तीन वर्षों में ही इन केन्द्रों की कामयाबी की कहानी सृजन की है। स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में पंजाब को पहले दर्जे का राज्य बनाने में राज्य सरकार का साथ देने के लिए लोगों को न्योता देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार स्वास्थ्य सुविधाओं की मज़बूती पर ध्यान केंद्रित कर रही है, ख़ासकर दूसरे और तीसरे दर्जे की सुविधाओं पर, जिसका उद्देश्य बिना देरी टेस्टिंग और इलाज के साथ कीमती जानें बचाना है। लोगों को भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर न जाने, घरों के अंदर रहने, बड़े जलसे और सामाजिक समागम न करने के लिए अपील करते हुए मुख्यमंत्री द्वारा पूरी सावधानियां खासकर बार-बार हाथ साफ़ करने और मास्क पहनने के लिए ज़ोर दिया गया।
महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों का जि़क्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दूसरे और तीसरे स्तर की इलाज सुविधाओं में मरीज़ों के लिए इलाज व्यवस्था और टेस्टिंग सुविधाएं बड़े पैमाने पर बढ़ाने के साथ-साथ प्लाज़्मा बैंक खोले जा चुके हैं और मिशन फतेह के अंतर्गत घरों के अंदर एकांतवास वाले मरीज़ों को मुफ़्त कोरोना किटें दी जा रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *