आंध्र प्रदेश में भारी बारिश के बाद 24 की मौत, कई लापता

 

 

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री Y S जगन मोहन रेड्डी ने सुबह राज्य के बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। राज्य में कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई है और राज्य के रायलसीमा क्षेत्र में आई बाढ़ में कई लोगों के लापता होने की खबर है। बंगाल की खाड़ी में विकसित हुए दो दबावों के कारण हुई बारिश के कारण कई जिलों को व्यापक नुकसान हुआ है, जिससे मूसलाधार बाढ़ आई है।

 

अनंतपुर जिले के कादिरी कस्बे में देर रात भारी बारिश के कारण एक पुरानी तीन मंजिला इमारत गिरने से तीन बच्चों और एक वृद्ध महिला समेत पांच लोगों की मौत हो गयी | सबसे बुरी तरह प्रभावित स्थानों में से एक चित्तूर जिले में मंदिर शहर तिरुपति था, जहां नदी के ऊपर और तिरुमाला पहाड़ियों से भारी मात्रा में पानी स्वर्णमुखी नदी उफान पर चला गया, जलाशयों में पानी भर गया और बाढ़ आ गई। घाट रोड और तिरुमाला हिल्स के रास्ते बंद कर दिए गए हैं।जिले में बाढ़ या करंट लगने से सात लोगों की मौत हो गई है।

 

 

राज्य परिवहन की तीन बसें फंस गई, उनमें फंसे 12 लोगों को नहीं बचाया जा सका|स्थिति को संभालने के लिए राष्ट्रीय और राज्य आपदा राहत टीमों को तैनात किया गया है और बचाव कार्य जोरों पर है। बाढ़ ने कई जगहों पर सड़कों को क्षतिग्रस्त कर दिया है और रेल, सड़क और हवाई यातायात प्रभावित हुआ है। कडप्पा एयरपोर्ट 25 नवंबर तक बंद रहेगा। रायलसीमा क्षेत्र सबसे ज्यादा प्रभावित है। राज्य के चित्तूर, कडपा, कुरनूल और अनंतपुर जिले प्रभावित हुए हैं।

 

 

गुरुवार से बारिश थमी नहीं है और चेयुरु नदी उफान पर है। अन्नामय्या सिंचाई परियोजना भी प्रभावित हुई है। बारिश ने तमिलनाडु और केरल में भी व्यवधान पैदा किया है। केरल के पथानामथिट्टा जिले में, पंबा नदी में बढ़ते जल स्तर के कारण कल पंबा और सबरीमाला की तीर्थयात्रा पर रोक लगा दी गई ।

 

 

 

 

 

– कशिश राजपूत