वह हिन्दी में कहते हैं न (भगवान तेरी भी अजब माया है, कहीं धूप तो कहीं छाया है) जी हां ओर इस बात का जीता-जागता सुबूत है, उड़ीसा की एक महिला जिसके पास 31 उंगलियां हैं। पहले तो उसके साथ भेदभाव किया गया लेकिन बाद में उसी महिला को विश्व के बड़े सम्मान गिनीज़ बुक से नवाज़ा गया।

31 उगंली बना अभिशाप

कहने को तो हम भारतीय इस बात पर गर्व करते है कि हमने मंगल ग्रह पर भी तिंरगा फहरा दिया है, लेकिन आज भी हम दकियानूसी बातों पर ध्यान देना नहीं छोड़े है। एक ऐसा ही अंधविश्वास उड़िसा के गंजम जिले में एक 62 वर्षीय महिला के साथ हुआ जिसका नाम नायक कुमारी है। इस महिला के हाथों में 12 और पैरों में 19 उगंलियां है यानी कुल मिलाकर 31 उंगलियां हैं। वहां के आस-पास के लोगनायक कुमारी से भेदभाव करते। उसको चुड़ैल कहते और उससे दूरी बनाने लगे। जब नायक कुमारी उनके समीप आती तो ये लोग उसके साथ मारपीट भी करते।

एक किस्म की बीमारी है

जब शरीर में कोई अंग का विकास कम हो या असामान्य से अधिक हो तोविज्ञान की भाषा में इस बीमारी को पॉलीडैक्टिली (Polydactyly) कहते हैं। यह बेहद सामान्य बीमारी है। ये बीमारी 5000 लोगों में से किसी एक व्यक्ति को होती है, लेकिन इतनी ज्यादा संख्या में उंगलियां होना थोड़ा आसामान्य है।

31 उंगलियों ने दिलाया ख़ास पहचान

जहां कल तक नायक कुमारी के लिए उसकी 31 उगंलियां एक अभिशाप बन चुकी थी आज उसी उंगलियों ने उसको जीने की नई राह भी दिखाई है। उसके असाधारण उंगलियों के चलते गिनीज़ बुक में उसका नाम दर्ज किया गया है। अब उसकी मदद के लिए गैर सरकारी संगठन के साथ-साथ राज्य सरकार ने भी नायक की मदद करने की बात कहीं है। राज्य सरकार ने उसको एक मकान देने की बात कही है, इसके साथ ही साथ पेंशन देने की भी बात हुई है। अब उस घड़ी का इंतज़ार है जब नायक कुमारी भी अन्य लोगों की तरह समाज में सम्मान के साथ सर उठा के जी सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here