जेईई मेन में अब परीक्षा के लिए 12वीं में 75 फीसदी की अनिवार्यता खत्म

 

 

जेईई मेन (JEE MAIN ) ने अब कक्षा 12 वीं में पढ़ने वाले NON MEDICAL स्ट्रीम के छात्र – छात्राओं को खुशखबरी दी है | दरअसल जेईई मेन ने कोरोना को देखते हुए अब कक्षा 12 वीं में 75 फीसदी अंकों की अनिवार्यता खत्म कर दी है |

 

भाजपा ने किया दावा, बंगाल में नंदीग्राम से चुनाव लड़ेंगे शुभेंदु अधिकारी

 

इससे पहले छात्र – छात्राओं को एगजाम देने के लिए कक्षा 12 वीं मे न्यूनतनम 75 फीसदी अंक हासिल करना अनिवार्य था | कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए मंत्रालय ने यह छूट देने का फैसला किया है |केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को ट्वीट कर यह घोषणा की। निशंक ने ट्वीट कर कहा, ‘आईआईटी जेईई (Advanced) और पिछले अकादमिक वर्ष को लेकर लिए गए फैसले को ध्यान में रखते हुए अगले अकादमिक सत्र 2021-2022 के लिए जेईई मेन के लिए 12वीं में 75 फीसदी मार्क्स संबंधी पात्रता नियम को हटाने का फैसला लिया गया है |

 

 

 

 

साल में चार बार होगा JEE Main –

 

जेईई मेन्स परीक्षा साल में चार बार आयोजित की जाएगी। यह चारों सत्र फरवरी, मार्च, अप्रैल और मई में आयोजित किए जाएंगे। जेईई मेन्स परीक्षा का पहला सत्र 23 फरवरी से 26 फरवरी 2021 के बीच आयोजित किया जाएगा |

 

अमेरिका को आज मिल जाएगा 46वां राष्ट्रपति..जो बाइडेन लेंगे शपथ,जानिए बड़ी बातें

 

 

सिलेबस में कोई बदलाव नहीं –

 

शिक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा है कि जेईई मेन और नीट परीक्षा का सिलेबस पिछले साल जैसा ही रहेगा। उसमें कोई बदलाव नहीं होगा। छात्रों के जेईई और नीट परीक्षा में सीमित प्रश्नों का उत्तर देने का विकल्प दिया जायेगा। शिक्षा मंत्रालय के बयान के अनुसार, ”जेईई मेन 2021 का पाठ्यक्रम पिछले वर्ष के समान ही रहेगा। हालांकि छात्रों को प्रश्नपत्र के 90 सवालों में से 75 सवालों का जवाब देने का विकल्प होगा। प्रश्नपत्र में 90 सवालों में 30-30 सवाल गणित, रसायन शास्त्र और भौतिकी से रहेंगे और उनमें से 75 सवालों (25-25 सवाल गणित, रसायन शास्त्र और भौतिकी) से देने होंगे |

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *