पुडुचेरी के रूप में मजबूत गढ़ तो खोया ही साथ में दक्षिण से हुई विदाई- राजनितिक विश्लेषण

Puducherry

 

 

-अक्षत सरोत्री

 

आज पांडुचेरी (Puducherry) में जो कुछ हुआ राजनीति में ऐसा नहीं है कि पहली बार हुआ हो ऐसे कई मोके आए हैं जब कई राज्यों की सरकारें गिरी हैं। लेकिन एक आंकड़ा जिसको लेकर कांग्रेस के राजनितिक इतिहास का काला अध्याय जुड़ गया है। दरअसल पांडुचेरी में आज कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद दक्षिण भारत में कांग्रेस को जनता ने पूरी तरह से सत्ता से बेदखल कर दिया है। अब पुरे भारत में अपने दम पर केवल 3 राज्य ऐसे हैं जहाँ कांग्रेस अपने बुते सरकार चला रही है जबकि दो राज्यों में वो गढ़बंधन में है। नहीं इतिहास देखा जाए तो पहले एक ऐसा भी समय था जब पुरे भारत पर केवल कांग्रेस का ही शासन था। आइए कुछ आंकड़ों के माध्यम से आपको समझाते हैं की क्या हुआ और कैसे हुआ।

 

 

क्या कांग्रेस के अच्छे बाले दिन चले गए

 

देश की सत्ता (Puducherry) में जब से मोदी सरकार आई है, मानों जैसे कांग्रेस के अच्छे दिन भी चले गए। पुडुचेरी में बीते कुछ दिनों से जारी राजनीतिक संकट का पटाक्षेप हो गया और अंतत: कांग्रेस की सरकार गिर गई। मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी के नेतृत्व में कांग्रेस सरकार सदन में बहुमत साबित करने में विफल रही और इस तरह कभी दक्षिण भारत में मजबूत रही कांग्रेस का आखिरी राज्य भी हाथ से चला गया।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने असम में 3 हजार करोड़ की योजनाओं का किया लोकार्पण

 

 

यह कुछ रहा पांडुचेरी विधानसभा में

 

 

विधानसभा में पेश किए गए विश्वासमत प्रस्ताव (Puducherry) पर मतदान से पहले ही मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी और सत्तारूढ़ पार्टी के अन्य विधायकों ने सदन से वॉकआउट किया था। इसके बाद मुख्यमंत्री राजनिवास पहुंचे और उप राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपा। दरअसल, कर्नाटक के बाद दक्षिण भारत में पुडुचेरी में ही कांग्रेस की सरकार बची थी, मगर अब वहां से भी पार्टी की विदाई हो गई।

 

 

पहले कर्नाटक हाथ से निकला

 

 

कर्नाटक में भी जेडीएस के साथ किसी तरह कांग्रेस गठबंधन (Puducherry) की सरकार में कुछ समय तक रही, मगर बाद में फिर से भाजपा ने वहां की सत्ता पर कब्जा कर लिया। उसके बाद दक्षिण भारत के राज्यों में एक पुडुचेरी ही था, जहां कांग्रेस की सरकार बची थी, मगर वहां भी विधायकों के इस्तीफे के बाद सत्ता हाथ से चली गई। इस तरह से देखा जाए तो अब कांग्रेस का दक्षिण भारत का मजबूत किला पूरी तरह से ध्वस्त हो चुका है।

 

 

2014 से भाजपा मजबूती से आगे बढ़ी

 

 

एक ओर जहां 2014 के बाद से पूरे देश में भाजपा का दखल (Puducherry) बढ़ता जा रहा है, वहीं कांग्रेस सत्ता से बेदखल होती जा रही है। अब अगर कांग्रेस शासित राज्यों की बात करें तो पांच राज्य ही ऐसे हैं, जहां कांग्रेस सरकार में है। राजस्थान, पंजाब, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और झारखंड में कांग्रेस सरकार में है। इनमें से भी तीन राज्यों में राजस्थान, पंजाब और छत्तीसगढ़ में ही कांग्रेस की पूरी तरह से सरकार है, वरना महाराष्ट्र और झारखंड में तो कांग्रेस सहायक की ही भूमिका में है। कर्नाटक और मध्य प्रदेश के बाद कांग्रेस को मिला यह हैट्रिक झटका है।

 

बंगाल में भी मजबूत नहीं है कांग्रेस

 

 

बंगाल में टीएमसी और भाजपा के बीच टक्कर (Puducherry) दिख रही है, हालांकि लेफ्ट के साथ गठबंधन ने कांग्रेस को मुकाबले में फिर से ला खड़ा किया है। वहीं, तमिलनाडु में कांग्रेस, डीएमके के साथ मिलकर चुनाल लड़ रही है। केरल में कांग्रेस के लिए सत्ता पाना इतना आसान नहीं है, क्योंकि वहां लेफ्ट का बोलबाला रहा है। असम में भाजपा की सरकार है और कांग्रेस को जीत के लिए एड़ी चोटी का दम लगाना होगा।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *