अस्थमा, गठिया में बेहद फायदेमंद है अडूसा का पौधा

 

अडूसा, जिसे आमतौर पर आयुर्वेद में वासा कहा जाता है, एक लोकप्रिय औषधीय पौधा है। इस पौधे के सभी भागों (पत्तियां, फूल, जड़) में औषधीय गुण होते हैं। इसमें एक विशिष्ट गंध और कड़वा स्वाद होता है। काली खांसी, ब्रोंकाइटिस, अस्थमा जैसे श्वसन संक्रमण के मामलों में शहद के साथ अडूसा पाउडर का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है क्योंकि यह अपने एक्सपेक्टोरेंट गुण के कारण वायु मार्ग से थूक के स्राव को बढ़ावा देने में मदद करता है। अडूसा (वासाका) अपने एंटीऑक्सीडेंट और सूजन-रोधी गुणों के कारण गठिया के लक्षणों को प्रबंधित करने में भी मदद कर सकता है। यह गठिया और गाउट से जुड़े जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करता है। यह अपने एंटीस्पास्मोडिक गुण के कारण ऐंठन को भी कम करता है।

गठिया के दर्द को जड़ से ठीक कर देगा इस प​त्ती का पेस्ट, ऐसे करें इस्तेमाल |  adusa plant's leaves are beneficial for gathiya disease and others |  Patrika News

also read: सर्दी में बहुत फायदेमंद है अजवाइन की चाय, जानिए लाभ

अडूसा त्वचा की समस्याओं के प्रबंधन के लिए एक प्रभावी घरेलू उपाय है। ताजा अडूसा के पत्तों के पेस्ट को त्वचा पर लगाने से फोड़े-फुंसियों और अल्सर का प्रबंधन करने में मदद मिलती है, क्योंकि इसके सूजन-रोधी गुण प्रभावित क्षेत्र में दर्द और सूजन को कम करते हैं। अडूसा पाउडर को शहद के साथ समान रूप से प्रभावित जगह पर लगाने से दाद, खुजली और त्वचा के चकत्ते को नियंत्रित करने में मदद मिलती है क्योंकि इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं। अडूसा का पेस्ट, पाउडर और जड़ का काढ़ा भी अपने ज्वरनाशक गुण के कारण शरीर के तापमान को कम करके बुखार को कम करने में मदद करता है।

101%लाभ -- अस्थमा #गठिया #यूरिक एसिड #अल्सर -- अडूसा ( वसाका ) से फायदा -  YouTube

also read: TED: जानिए क्या है Thyroid Eye Disease के लक्षण और इलाज
अडूसा का उपयोग कैसे करें-
1. अडूसा टैबलेट
A। अडूसा की 1-2 गोलियां लें
B। इसे दिन में 1-2 बार पानी के साथ निगल लें

2. अडूसा कैप्सूल
A। अडूसा के 1-2 कैप्सूल लें
B। इसे दिन में 1-2 बार पानी के साथ निगल लें

3. अडूसा पाउडर
A। – ½ छोटा चम्मच अडूसा पाउडर लें
B। इसमें शहद मिलाएं या दिन में 1-2 बार पानी के साथ लें

4. अडूसा क्वाथ
A। 1/2- 1 चम्मच अडूसा पाउडर लें
B। 2 कप पानी डालकर उबाल लें
C। 5-10 मिनट तक प्रतीक्षा करें या जब तक मात्रा ½ कप तक कम न हो जाए
D। यह अडूसा क्वाथ है
E। इस क्वाथ के 2-3 चम्मच लें
F। इसमें उतना ही पानी मिला लें
G। भोजन के बाद दिन में दो बार इसे पियें

 

 

 

 

 

– कशिश राजपूत