इमरान के ‘दुश्मन’ से मिले अफगान NSA, नवाज शरीफ से की मुलाकात

 

पाकिस्तान औऱ अफगानिस्तान के बीच जुबानी जंग जारी है. लेकिन इस बीच अफगानिस्तान के एनएसए ने पाक के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की है। इस मुलाकात से पाक में हड़कंप मचा हुआ है. वहीं अफगान एनएसए ने पाकिस्तान की पोल खोलते हुए कहा की और 15 हजार आतंकी तालिबान को मदद देने के लिए बार्डर क्रॉस कर चुका है.

अफगान NSA ने किया बड़ा खुलासा

 

अफगानिस्तान में हर दिन के साथ हालात बिगड़ रहे हैं. तालिबान का दावा है की वो 150 से ज्यादा जिलों पर कब्जा कर चुका है। तालिबान की इस ताकत के पीछे पाकिस्तान है. और इस बात का खुलासा अफगानिस्तान के राष्ट्रपति पाक पीएम इमरान खान के मुंह पर कर चुके हैं. मगर अब अफगानिस्तान ने इमरान खान की काट तलाशने का काम तेज कर दिया है. और काट एसे ही है की तस्वीर सामने आते हैं पाकिस्तान की सियासत में हड़कंप मच गया है.

 

अफगान NSA की नवाज शरीफ से मुलाकात

 

तालिबान को लेकर अफगानिस्तान कई बार पाकिस्तान को नंगा कर चुका है. मगर इमरान खान को कोई फर्क नहीं पड़ता है. इसी बीच अफगानिस्तान NSA हमदुल्ला मोहिब लंदन में पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से मुलाकात की. इस मुलाकात की तस्वीर वायरल होने के बाद इस खबर ने जोर पकड लिया की दोनों राजनीतिक प्लानिंग को अंजाम देने में लगे हैं. अफगान NSA की मुलाकात उस वक्त नवाज शरीफ से हुई है जिस वक्त पाकिस्तान खुलकर तालिबान का समर्थन कर रहा है.

 

अफगान NSA ने किया बड़ा खुलासा

 

मोहिब ने खुलासा किया है कि खुफिया एजेंसियों के मुताबिक तालिबान के 15 हजार नए लड़ाके अफगानिस्तान में दाखिल हो रहे हैं जबकि पाकिस्तान से 10 हजार तालिबानी लड़ाके आ चुके हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि तालिबान को पाकिस्तान में पनाह दी जा रही है और पड़ोसी देश में वे आराम से रह रहे हैं.

 

इससे पहले अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने आरोप लगाया था की पाक सेना खुलकर तालिबान का समर्थन कर रहा है। उन्होने ने पाक पर हमला बोलते हुए कहा था की तालिबान के घायल आतंकियो को पाकिस्तान में इलाज दिया जा रहा है और तालिबान के लिए रणनीति बनाने का काम भी पाकिस्तान कर रहा है। वहीं पाकिस्तान औऱ अफगानिस्तान के बीच तल्खी उसवक्त और बढ गई थी..जब अफगान के उपराष्ट्रपति ने कहा था की पाक वायुसेना तालिबान का समर्थन कर रही है.

 

वहीं मोहिब और पाक नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है. उन्होंने पाकिस्तान को साफ कहा था की उन्हें अफगानिस्तान के आंतरिक मामलो में दखल नही देना चाहिए. एक बार तो अफगानिस्तान के एनएसए हमदुल्ला मोहिब ने पाकिस्तान को वेश्यालय तक कह दिया था. जिसके बाद पाकिस्तान को काफी मिर्ची लगी थी. दऱअसल सच्चाई यही है की पाकिस्तान खुलकर तालिबान की मदद कर रहा है. पाक सेना जहा तालिबान को मदद दे रही है वहीं पाक वायुसेना तालिबान के लिए एयरसुपोर्ट दे रही है। मगर अफगान सेना के होंसले के आगे तालिबान घुटने टेक रहा है और अगर दुनिया की मदद अफगानिस्तान को मिली तो तालिबान औऱ पाकिस्तान का काम खत्म हो जाएगा.

 

https://jk24x7news.tv/the-situation-started-deteriorating-due-to-corona-in-britain-scientists-cautioned-britain/

Share