आखिर क्या है यह लव जिहाद, राजनीतिक मुद्दा या एक समाजिक बुराई?

 

 

-अक्षत सरोत्री

 

लव जेहाद एक समाजिक बुराई, ठोस कानून बनना चाहिए यह मांग आज लव जिहाद के मुद्दे पर बोलते हुए भाजपा के दिग्गज नेता गिरिराज सिंह ने कहे। लव जिहाद पर अब ऐसा लग रहा है की नेताओं की जुबानी जंग तेज हो गयी है। ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून (Love Jihad) को लेकर कई बीजेपी शासित राज्यों में कवायद शुरू हो गई है। इस बीच बिहार में भी इस मुद्दे पर सियासी पारा चढ़ने लगा है।

 

लव जिहाद पर क्या बोले गिरिराज सिंह

 

 

 

 

बीजेपी के दिग्गज नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने बिहार में नीतीश कुमार सरकार (Nitish Kumar) से अनुरोध किया है कि वह लव जिहाद पर कानून बनाएं। बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह ने इस पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि लव जिहाद आज सामाजिक समरसता के लिए एक तरह से कैंसर हो गया है। अब कई राज्य इसके लिए कानून बनाने की मुहिम में लग गए हैं। बिहार को भी इसको सांप्रदायिकता का नाम न देकर सामाजिक समरसता के लिए लव जिहाद पर काम करने की जरूरत है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लव जिहाद और जनसंख्या नियंत्रण जैसे मुद्दों का सांप्रदायिकता से कोई सरोकार नहीं है बल्कि ये तो सामाजिक समरसता के विषय हैं। उन्होंने शुक्रवार को कहा था कि बिहार में नीतीश कुमार सरकार से अनुरोध है कि वह लव जिहाद पर कानून बनाएं। लव जिहाद वाली समस्या को जड़ से समाप्त करना होगा और अगर बिहार में लव जिहाद को रोकने के लिए कानून लाया जाए तो अच्छा होगा।

 

आखिर होता क्या है लव जिहाद?

 

 

 

लव जिहाद दो शब्दों से मिलकर बना है। अंग्रेजी भाषा का शब्द लव यानी प्यार, मोहब्बत, इश्क और अरबी भाषा का शब्द जिहाद। जिसका मतलब होता है किसी मकसद को पूरा करने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देना. यानी जब एक धर्म विशेष को मानने वाले दूसरे धर्म की लड़कियों को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उस लड़की का धर्म परिवर्तन करवा देते हैं तो इस पूरी प्रक्रिया को लव जिहाद कहा जाता है। इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘जिस तरह इंटरनेट गेम ब्लू व्हेल में किसी लड़के या लड़की को टास्क दिए जाते हैं और जिसमें उसे आखिर में सुसाइड करना होता है, उसी तरह आजकल किसी को भी खास मकसद के लिए राजी करना आसान हो गया है’।

 

कहाँ आया था लव जिहाद का पहला मामला

 

 

लव जिहाद के शुरुआती मामले केरल और तटीय कर्नाटक के मैंगलोर इलाके में सामने आए। अक्‍टूबर 2009 में केरल कैथलिक बिशप काउंसिल ने दावा किया कि लगभग 4,500 लड़़कियों को लव जिहाद का निशाना बनाया गया। वहीं हिंदू जनजागृति समिति का आरोप था कि अकेले कर्नाटक में ही 30 हजार लड़कियों का धर्म परिवर्तन किया गया। लेकिन एक रिपोर्ट के मुताबिक़ यह आंकड़ा कहीं और भी बढ़ जाता है क्योंकि कई मुद्दे तो सामने आते ही नहीं हैं।

 

 

हिंदू महासभा ने टीना डाबी मामले को भी लव जिहाद से जोड़ा

 

 

 

आईएएस दंपती टीना डाबी और अतहर खान ने तलाक के लिए फैमिली कोर्ट का रुख किया है। यह मामला काफी चर्चा में है। इस बीच मेरठ में अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक अग्रवाल ने विवादित बयान दिया है। हिंदू महासभा नेता ने कहा है कि आईएएस टीना डाबी को लव जिहाद के जरिए फंसाया गया है। अभिषेक ने आरोप लगाया कि आईएएस अतहर खान जैसे पढ़े-लिखे लोग भी ऐसे कृत्यों में शामिल हैं। हिंदू महासभा नेता अभिषेक अग्रवाल ने मांग की है कि जो हिंदू बहू-बेटियों को लव जिहाद में फंसाकर तलाक दे देते हैं, ऐसे लोगों को 14 साल की सजा मिलनी चाहिए। हिंदू महासभा प्रवक्ता ने सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार से लव जिहाद के संबंध में कड़े कानून बनाने की अपील की। इसके साथ ही अभिषेक अग्रवाल ने हिंदू समाज की बहन-बेटियों को समुदाय विशेष के लड़कों से दूर रहने की सलाह दी।

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *