ED के बाद अब बंगाल शिक्षा घोटाले में CBI ने पार्थ चटर्जी को हिरासत में लिया

Bengal SSC Scam
Partha Chatterjee

प्रवर्तन निदेशालय (ED) के बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने एसएससी घोटाले (Bengal SSC Scam) में बंगाल के पूर्व मंत्री पार्थ चटर्जी (Partha Chatterjee) को 21 सितंबर तक हिरासत में लिया है। जांच एजेंसी सीबीआई ने गुरुवार को कोलकाता के अलीपुर कोर्ट में एक याचिका दायर कर पार्थ चटर्जी को हिरासत में लेने की मांग की थी।

एसएससी के पूर्व अध्यक्ष कल्याणमय गांगुली को भी 21 सितंबर तक सीबीआई हिरासत में भेज दिया गया है। उन्हें सीबीआई ने कल एसएससी घोटाले (Bengal SSC Scam) में गिरफ्तार किया था।

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान सीबीआई ने कथित घोटाले के संबंध में उनसे पूछताछ करने के लिए पार्थ चटर्जी की हिरासत मांगी। लेकिन, चटर्जी के वकील ने कहा कि उनके मुवक्किल सीबीआई और ईडी की साजिश का शिकार थे।

यह भी पढ़ें: दुनिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बनें गौतम अडानी जेफ बेजोस को पछाड़ा: रिपोर्ट

वकील ने आगे तर्क दिया कि पार्थ चटर्जी ने ईडी रिमांड में लगभग 60 दिन बिताए हैं और चूंकि आरोप पत्र दायर नहीं किया गया है, इसलिए मामले में उन्हें जमानत मिलने की संभावना है।

“पार्थ चटर्जी तीन बार सीबीआई के सामने पेश हुए। सीबीआई ने उन्हें गिरफ्तार नहीं किया, फिर क्यों? उन्हे तुरंत जमानत मिलनी चाहिए, ”वकील ने तर्क दिया।

हालांकि, सीबीआई ने अदालत को सूचित किया कि बंगाल के पूर्व मंत्री से ग्रुप डी भर्ती घोटाले के संबंध में पूछताछ की गई थी, और अब वे ग्रुप सी भर्ती घोटाले में उनकी जांच करना चाहते हैं।

सीबीआई की विशेष अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद पार्थ चटर्जी को 21 सितंबर तक सीबीआई की हिरासत में भेज दिया।

यह भी पढ़ें: AAP विधायक अमानतुल्ला खान के सहयोगी से अवैध हथियार और 12 लाख रुपये नकद बरामद