सविंधान में बदलाव के बाद अब 2036 तक रुस के राष्ट्रपति बने रहेंगें व्लादिमीर पुतिन

 

रूस (Russia) के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने उस कानून पर हस्ताक्षर कर दिए हैं, जो उन्हें 2036 तक राष्ट्रपति पद की दौड़ में बने रहने की योग्यता प्रदान करता है. इस कदम के जरिए पिछले साल संवैधानिक बदलाव (Changes in Russian Constitution) के लिए हुए मतदान में प्राप्त समर्थन को औपचारिक रूप दिया गया है (Russian Ppresident Vladimir Putin). पिछले साल एक जुलाई को हुए संवैधानिक मतदान में एक ऐसा प्रावधान भी शामिल था जो पुतिन को दो और बार राष्ट्रपति पद की दौड़ में शामिल होने की अनुमति प्रदान करता है.

 

पुतिन द्वारा हस्ताक्षर किए गए संबंधित कानून की जानकारी आधिकारिक वेबसाइट पर साझा की गई है. दो दशकों से भी अधिक समय तक सत्ता पर काबिज रहने वाले 68 वर्षीय पुतिन (Russian Ppresident Vladimir Putin Age) ने कहा कि वह 2024 में अपना वर्तमान कार्यकाल समाप्त होने के बाद इस बारे में विचार करेंगे कि उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए दोबारा मैदान में उतरना है या नहीं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, साल 2024 के बाद रूस के राष्ट्रपति का कार्यकाल 6-6 साल का होगा .

 

सबसे लंबे समय तक शासन करने वाले नेता – 

 

ऐसा कर पुतिन सबसे अधिक समय तक शासन करने वाले नेता बन जाएंगे. वह रूस पर शासन करने वाले जोसेफ स्टालिन और पीटर का रिकॉर्ड तोड़ देंगे (Vladimir Putin is President of Russia Since). हाल ही में रूस में विपक्षी नेता एलेक्सी नावलनी की रिहाई को लेकर काफी विरोध प्रदर्शन हुए थे. नावलनी ने पुतिन पर गंभीर आरोप लगाए थे और वह उनके आलोचक भी माने जाते हैं. पुतिन पर लोगों ने विपक्षी नेताओं को परेशान करने का आरोप लगाया था (Opposition to Vladimir Putin in Russia). एक अन्य मामले में दर्जनों लोगों को एक कार्यक्रम से गिरफ्तार किया गया था, इनमें भी ज्यादातर विपक्षी पार्टियों के नेता शामिल थे.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *