किसान आंदोलन को लेकर बोले कृषि मंत्री, हमें सुप्रीम कोर्ट का फैसला मंजूर

 

-अक्षत सरोत्री

 

 

सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का बयान सामने आया है कि कोर्ट कल फिर सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट का फैसला सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने किसानों के साथ कई दौर की बातचीत की। नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि जो किसान यूनियन का मत है, उस दृष्टि से कई प्रस्ताव भी उनको दिए गए, लेकिन उनके मन में कानून वापस लेना ही है, इसलिए किसी फैसले पर हम नहीं पहुंच पाए।

 

 

 

 

 

कृषि मंत्री ने कहा, “15 जनवरी को किसानों के साथ बैठक है। अभी निर्णय सुप्रीम कोर्ट के समक्ष विचाराधीन है। सुप्रीम कोर्ट का निर्णय पहले आने दीजिए।” दिल्ली से मध्य प्रदेश के भोपाल के राजगढ़ पहुंचे नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों के आंदोलन पर कहा, “किसान आंदोलन पर स्वयं फैसला करके आए हैं। हमने इनको ऑफर किया था एक समिति बना देते हैं, जिसमें किसान भी रहें अफसर भी रहें और मंत्री भी रहें।” नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, “कानून के जो प्रावधान किसानों के लिए प्रतिकूल हैं, सरकार उसमें संशोधन के लिए तैयार हैं।

 

 

 

यह बोला आज सुप्रीम कोर्ट

 

 

किसान आंदोलन और कृषि कानून मामले पर सुप्रीम कोर्ट कल आदेश देगा। आज कोर्ट ने साफ संकेत दिए हैं कि वह कानून के अमल पर रोक लगाएगा और मसले के हल के लिए कमेटी बनाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा कि नए कृषि कानूनों को लेकर जिस तरह से सरकार और किसानों के बीच बातचीत चल रही है, उससे हम बेहद निराश हैं। अदालत ने कहा कि हम अर्थव्यवस्था के विशेषज्ञ नहीं हैं। आप बताएं कि सरकार कृषि कानूनों पर रोक लगाएगी या हम लगाएं?

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *