विधानसभा में 20 कमरे लेने के लिए राज्यपाल के पास पहुंचा सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल

punjab governer
Share

-चंद्रशेखर पुनिया

 

 

विधानसभा में पंजाब से अपने हिस्से के 20 कमरे लेने के लिए हरियाणा का सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अगुवाई में पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर से मिला। विधानसभा सत्र में सर्वसम्मति से पारित एक प्रस्ताव की प्रति व ज्ञापन उन्हें सौंपा गया। बदनौर ने आश्वासन दिया कि हरियाणा को विधानसभा में उसका हिस्सा अवश्य मिलेगा। प्रतिनिधिमंडल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, पुरातत्व एवं संग्रहालय मंत्री अनूप धानक, नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुडडा, विधायक रघुवीर सिंह कादियान और किरण चौधरी शामिल रहे।

 

 

बदनौर को सौंपे ज्ञापन में हरियाणा ने कहा है कि विधानसभा भवन में 20 कमरे जो हमारा हिस्सा है उन पर आज भी पंजाब ने अवैध तौर से कब्जा किया हुआ है। हमारे कर्मचारियों, विभिन्न दल के नेताओं, मंत्रियों व समितियों की बैठक के लिए पर्याप्त स्थान नहीं है। विधानसभा भवन की ईमारत में अपना हिस्सा लेने के लिए किसी भी मंच पर हरियाणा अपनी बात पुरजोर तरीके व  एकजुटता के साथ उठाएगा।

 

 

पंजाब सरकार या पंजाब विधानसभा अध्यक्ष से हरियाणा का सदन अनुरोध करता है कि पंजाब पुर्नगठन अधिनियम, 1966 के तहत जो हरियाणा एवं पंजाब विधान भवन का बंटवारा 17 अक्टूबर 1966 को हुआ था, उसका सम्मान करते हुए हरियाणा और पंजाब भवन की ईमारत में 24630 वर्ग फुट स्थान खाली कर हरियाणा विधानसभा को सौंपा जाए।

 

 

मनोहर लाल ने कहा कि राज्यपाल बदनौर ने आश्वासन दिया है कि वे विधानसभा के सही बंटवारे के लिए चंडीगढ़ के चीफ इंजीनियर को बुलाकर इस विषय की जांच करवाएंगे। इस मामले पर तीन सदस्यीय एक कमेटी गठित की जाएगी। हरियाणा का हिस्सा अवश्य मिलेगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *