अमेरिका ने नहीं दी कोवैक्सिन के इस्तेमाल को मंजूरी, अब BLA के जरिए मंजूरी हासिल करेगी कंपनी

 

– कशिश राजपूत

 

 

ओक्यूजेन इंक अमेरिका में भारत बायोटेक की साझेदार कंपनी है | इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी खारिज किए जाने के बाद एफडीए ने ही कंपनी को इसका सुझाव दिया है | ओक्यूजेन इंक ने कहा है कि वह बायोलॉजिक्स लाइसेंस एप्लीकेशन (BLA) के जरिए मंजूरी हासिल करेगी | समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, ओक्यूजेन ने अपने बयान में कहा, “कंपनी अब कोवैक्सिन के लिए इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति (EUA) पाने की कोशिश नहीं करेगी | एफडीए ने मास्टर फाइल के बारे में ओक्यूजेन को प्रतिक्रिया दी है |

 

कोवैक्सीन को झटका! अमेरिका ने नहीं दी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी- America FDA declined emergency use nod to Covaxin

 

बता दें कि अमेरिका में इमरजेंसी इस्तेमाल के मंजूरी न मिलने का मतलब ये नहीं है कि वैक्सीन में कोई कमी है | बल्कि अमेरिका की FDA वैक्सीन ट्रायल के कुछ और नतीजों को देखना चाहती है | मसलन FDA ये जानना चाहती है कि ये वैक्सीन कितनी सुरक्षित और कारगर है | बता दें कि कोवैक्सीन को WHO से भी फिलहाल मंजूरी नहीं मिली है |

 

ओक्यूजेन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सह-संस्थापक शंकर मुसुनुरी ने कहा, ‘‘हालांकि, हम अपने ईयूए आवेदन को अंतिम रूप देने के बेहद करीब थे, लेकिन एफडीए ने हमें बीएलए के जरिए अनुरोध करने की सलाह दी है | इससे ज्यादा वक्त लगेगा, लेकिन हम कोवैक्सीन को अमेरिका में लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं |

 

Covaxin: अमेरिका ने कोवैक्सिन के इस्तेमाल को नहीं दी मंजूरी, अब इस तरीके से आवेदन करेगी ओक्यूजेन इंक | Ocugen says it will pursue submission of a biologics license application ...

 

ऐसी भी खबरें आई हैं कि भारत बायोटेक कोवैक्सिन के चौथे चरण का ट्रायल शुरू करेगी, जिसमें असल दुनिया की परिस्थितियों में इसकी सुरक्षा और प्रभावकारिता को परखा जाएगा।फिलहाल इसके तीसरे चरण के ट्रायल जारी हैं और अगले महीने नतीजे आने की उम्मीद है। इसके बाद कंपनी इसके फुल लाइसेंस के लिए आवेदन करेगी।बता दें कि तीसरे चरण के ट्रायल के नतीजे आने से पहले ही कोवैक्सिन को भारत में मंजूरी मिल गई थी।

 

 

 

Share