अंकिता भंडारी हत्याकांड: SIT ने उत्तराखंड के राजस्व अधिकारी वैभव प्रताप को किया गिरफ्तार

Ankita Bhandari Case
Ankita Bhandari Murder Case

विशेष जांच दल (SIT) ने उत्तराखंड (Uttarakhand) के राजस्व अधिकारी वैभव प्रताप (Vaibhav Pratap) को 19 वर्षीय उत्तराखंड रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की हत्या के मामले (Ankita Bhandari Case) में गिरफ्तार किया है, जिसकी कथित तौर पर रिसॉर्ट मालिक पुलकित आर्य द्वारा हत्या कर दी गई थी।

अंकिता भंडारी हत्याकांड में एसआईटी ने गंगा भोगपुर के पटवारी वैभव प्रताप को लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया है।

यह भी पढ़ें: भारत का गलत नक्शा दिखाने के बाद शशि थरूर ने कहा : “जानबूझ कर नहीं किया

सब इंस्पेक्टर 18 सितंबर की घटना के बाद से छुट्टी पर है।

अंकिता भंडारी हत्याकांड (Ankita Bhandari Murder Case) की जांच में खुलासा हुआ है कि मुख्य आरोपी पुलकित आर्य ने पीड़िता की हत्या के एक दिन बाद पटवारी वैभव से मुलाकात की थी।

उत्तराखंड में ऋषिकेश के पास एक रिसॉर्ट में 19 वर्षीय रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की कथित तौर पर रिसॉर्ट मालिक और उसके दो साथियों ने हत्या कर दी थी।

एक अधिकारी ने बताया था कि 22 सितंबर को राजस्व पुलिस से मामले को नियमित पुलिस बल को सौंपे जाने के 24 घंटे के भीतर रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्य समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया था।

पटवारी एक गाँव का प्रशासनिक अधिकारी होता है जो भूमि अभिलेखों के रखरखाव के लिए जिम्मेदार होता है।

वैभव वही है जिसके पास सबसे पहले अंकिता के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई गई थी। आरोपों के बाद उन्हें उनके पद (पटवारी) से निलंबित कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें: अरविंद केजरीवाल को घर बुलाने वाले ऑटो चालक ने लिया यू-टर्न, कहा- PM मोदी का फैन हूं