बदरीनाथ धाम के कपाट शनिवार को होंगे शीतकाल के लिए बंद, 20 कुंतल फूलों से सजाया मंदिर

 

उत्तराखंड स्थित बदरीनाथ धाम के कपाट शनिवार को परंपरागत तौर पर शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। शुक्रवार को धाम के कपाट बंद होने से पहले मंदिर को चारों ओर से 20 कुंतल गेंदा, गुलाब और कमल के फूलों से सजाया गया है।

 

 

शनिवार को शाम चार बजे माता लक्ष्मी को बदरीनाथ धाम के गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा और गरुड़ जी, उद्धव जी व कुबेर जी को बाहर लाया जाएगा। इसके बाद धार्मिक विधि-विधान के साथ मंत्रोच्चार के बीच साम 6.45 बजे मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाएंगे। शीतकाल में भगवान बदरीनाथ की पूजा पांडुकेश्वर व जोशीमठ में की जाएगी।