बेस्ट क्रॉप साइंस एलएलपी बनी ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन बनाने वाली भारत की पहली एग्रोकेमिकल कंपनी 

 

कृषि से जुड़े प्रोडक्टों को बनाने वाली कंपनी को फंगस को दूर करने के लिए ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन नामक कीटनाशक दवा बनाने का लाइसेंस मिल गया है। कंपनी ने घोषणा की, केंद्रीय कीटनाशक बोर्ड और पंजीकरण समिति के साथ मिलकर ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन टेक्निकल यू/एस 9(3 ) भारत में ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन का निर्माण और मार्केटिंग का पहला कृषि रसायन उद्योग बन जाएगा। ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन उच्च गुणवत्ता वाला कीटनाशक होने के कारण उत्तरी अमेरिका, यूरोप, एशिया-पैसिफिक, दक्षिण अमेरिका मध्य पूर्व और अफ्रीका के घरेलू और वैश्विक बाजारों में भारी मांग है।

 

वहीं भारत के अनुमानित ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन बाजार का आकार 400 करोड़ रुपये के करीब है। वही इसका उपयोग अनाज, धान की फसलों, फलों और सब्जियों जैसे टमाटर, अंगूर, आम, मिर्च और गेहूं में फंगल रोगजनकों के खिलाफ बेहतर तरीके से काम करता है। इसलिए भारत में फंगस को दूर करने में ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन की ज्यादा मांग है।

 

फंगल पौधों की बीमारियों को नियंत्रित करने की क्षमता 

वहीं ट्राइफ्लॉक्सीस्ट्रोबिन टेक्निकल के पास फंगल पौधों की बीमारियों के खिलाफ नियंत्रित करने की क्षमता है। और लंबे समय तक चलने वाले, मौसम-संरक्षित रोग नियंत्रण प्रदान करने के लिए फंगसरोधी का एक सुरक्षित भंडार बनाता है।

 

बेस्ट क्रॉप साइंस एलएलपी जल्द ही “बेस्ट एग्रोलाइफ लिमिटेड द्वारा अधिग्रहित किया जाएगा जो भारत में शीर्ष 15 एग्रोकेमिकल्स में से एक है और अपने अद्वितीय उत्पादों के साथ उद्योग की सेवा कर रहा है जो अच्छी तरह से शोध और विकसित होने के साथ स्वस्थ जीवन, टिकाऊ विकास और कृषि व्यवसाय की अनूठी संभावनाओ पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

 

 

Share