हिमाचल में सतलुज नदी पर बनेगा पुल

Himachal Pradesh
Himachal Pradesh

शिमला 25 नवंबर (वार्ता): हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में आचार संहिता हटने के बाद 103 करोड़ से सतलुज पर बनने वाले पुल के लिये टेंडर प्रक्रिया शुरू होगी।

विधानसभा चुनाव के बीच ही हिमाचल को केंद्र सरकार ने इस प्रोजेक्ट की मंजूरी दे दी है। प्रदेश के बिलासपुर जिला के घुमारवीं में सतलुज नदी पर इस भारी-भरकम फंड से पुल का निर्माण प्रस्तावित है। राज्य और केंद्र सरकार के बीच सेंटर रोड फंड को लेकर लंबे समय से वार्तालाप चल रहा था। इसमें 103 करोड़ रुपए का बड़ा प्रोजेक्ट भी पाइपलाइन में था और अब इसे मंजूरी दे दी गई है।

प्रदेश में हालांकि, आदर्श आचार संहिता लागू होने की वजह से इस पुल के निर्माण के टेंडर की प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाएगी। पुल की कुल लंबाई 300 मीटर होगी। गौरतलब है कि आदर्श आचार संहिता लगने से पूर्व अगस्त महीने में केंद्र सरकार ने सेंटर रोड फंड की एक किस्त प्रदेश में जारी की थी।

इस किस्त में 42 करोड़ 60 लाख रुपए का पैकेज था। इस फंड से लोक निर्माण विभाग उन खर्चों की भरपाई की, जिन्हें सडक निर्माण के दौरान प्रदेश के खाते से चुकाया गया था। सडक परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने यह धनराशि जारी की थी।

गौरतलब है कि केंद्र के फंड पर प्रदेश भर में सडक निर्माण के कार्य लोक निर्माण विभाग पूरा कर रहा है और इस कार्य के पूरा होने के बाद राज्य सरकार की मंजूरी के बाद भुगतान के लिए केंद्र सरकार को बिल भेजे जाते हैं। इन्हीं बिल का भुगतान अब लोक निर्माण विभाग को हुआ है। अब आठ दिसंबर को विधानसभा चुनाव का परिणाम सामने आने के बाद पुल से जुड़ी टेंडर प्रक्रिया शुरू की जाएगी। विभाग ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं (Himachal Pradesh)।

Read Also: ग्वालियर में ट्रेन के तीन डिब्बे पटरी से उतरे