बुमराह भी हो गए बाहर, अब Playing XI में कौन होगा ?

 

-अब्दुल नबी हसन

 

 

टीम इंडिया (India ) के खिलाड़ी इस वक्त चोट से जूझ रहे हैं, लगातार टीम के खिलाड़ी दिन व दिन चोट(Injury) का शिकार हो रहे हैं, अब तेज़ गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ जसप्रीत बुमराह पेट में खिंचाव के कारण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट से बाहर हो गए

 

 

India vs Australia

 

 

 

इतना ही नहीं हनुमा विहारी की चोट के बाद माना जा रहा है था कि मयंक अग्रवाल प्लेइंग इलेवन का हिस्सा हो सकते थे लेकिन नेट पर प्रेक्टिस करने के दौरान मयंक अग्रवाल को भी हाथ में चोट लग गई, उन्हें हेयरलाइन फ्रेक्चर हो सकता है.

 

 

 

Injured Vijay Shankar out of World Cup; Mayank Agarwal to replace him - The Week

 

 

 

इंडिया के लिए दिक्कतें और तब बढ़ गई जब सिडनी टेस्ट के आखिरी दिन साढ़े तीन घंटे तक बल्लेबाजी करने के बाद आर अश्विन की पीठ में जकड़न हो गई, जिससे अब टीम के पास ज्यादा ऑपशन तो बचे नहीं

 

 

 

India vs Australia

 

 

 

भारतीय गेंदबाजी आक्रमण के अहम सदस्य बुमराह को यह खिंचाव सिडनी में ड्रॉ हुए तीसरे टेस्ट के दौरान आया.

 

 

जानकारी के मुताबिक बुमराह के स्कैन की रिपोर्ट में खिंचाव का पता चला है और भारतीय टीम प्रबंधन इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट की आगामी सीरीज को देखते हुए उनकी चोट के बढ़ने का जोखिम नहीं लेना चाहता.

 

 

बीसीसीआई सूत्र ने पीटीआई को बताया, ‘सिडनी में फील्डिंग करते हुए जसप्रीत बुमराह के पेट में खिंचाव आ गया था. वह ब्रिस्बेन टेस्ट से बाहर रहेंगे, लेकिन उनके इंग्लैंड के खिलाफ उपलब्ध रहने की उम्मीद है.’

 

 

भारत टीम ने राहत की सांस ली है कि बुमराह की चोट गंभीर नहीं है, लेकिन वे ब्रिस्बेन में सतर्कता बरतना चाहते हैं, क्योंकि टेस्ट मैच के बीच में चोटिल होने पर अधिक प्रतिकूल असर पड़ेगा.

 

 

सूत्र ने कहा, ‘अगर हम 50 प्रतिशत फिटनेस के साथ उन्हें खिलाने का जोखिम उठाते हैं, ऐसे में अगर उसकी चोट बढ़ जाए और वह मैच के बीच से बाहर हो जाएं और इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के अधिकतर हिस्से से भी बाहर हो जाएं तो.’

 

 

 

India vs Australia

 

 

 

उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड आखिरी सीरीज है, जिससे विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल का क्वालिफिकेशन तय होगा और हम इसके दावेदार हैं और हमें फिट बुमराह की जरूरत है.’

 

 

अब उम्मीद की जा रही है कि दो टेस्ट खेलने वाले मोहम्मद सिराज भारतीय आक्रमण की अगुआई करेंगे और 15 जनवरी से शुरू हो रहे ब्रिस्बेन टेस्ट में नवदीप सैनी, शार्दुल ठाकुर और टी नटराजन उनका साथ देंगे. बुमराह को अगर पूर्ण फिटनेस के बिना उतारने का जोखिम नहीं लिया जाता तो फिर नटराजन को पदार्पण का मौका मिलेगा.

 

 

भारतीय टीम में समस्या यह है कि चोटिल केएल राहुल के जाने और हनुमा विहारी की ग्रेड 2 की चोट के बाद मध्यक्रम में विकल्प नहीं बचे हैं. दो उपलब्ध बल्लेबाज खराब फॉर्म से जूझ रहे सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ और मयंक अग्रवाल हैं. अब देखना यह होगा कि मुख्य खिलाड़ियों की अनुपलब्धता और लंबे निचले क्रम को देखते हुए भारत छह बल्लेबाजों और चार गेंदबाजों के साथ उतरने का फैसला करता है या नहीं.

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *