देश की अब तक की सबसे बड़ी बैंक धोखाधड़ी ! CBI ने किया बड़ा खुलासा

Bank fraud
Bank fraud

Bank fraud: केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI)34,614 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में DHFL, उसके प्रमोटरों कपिल वधावन, धीरज वधावन, व्यवसायी सुधाकर शेट्टी और अन्य से जुड़े 12 स्थानों पर महाराष्ट्र में तलाशी ले रहा है। कुछ रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि यह देश की सबसे बड़ी बैंक धोखाधड़ी है, जिसमें शामिल राशि नीरव मोदी मामले की लगभग तिगुनी है।

धोखा देने के लिए आपराधिक साजिश : Bank fraud

प्राथमिकी के अनुसार, दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (DHFL), उसके तत्कालीन मुख्य प्रबंध निदेशक कपिल वधावन, तत्कालीन निदेशक धीरज वधावन, व्यवसायी सुधाकर शेट्टी और अन्य आरोपियों ने यूनियन बैंक के नेतृत्व वाले 17 बैंकों के संघ को धोखा देने के लिए आपराधिक साजिश रची।

एजेंसी ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड के कपिल वधावन, धीरज वधावन, सुधाकर शेली, अमेरीलिस रियल्टर्स, स्काईलार्क बिल्डकॉन प्राइवेट लिमिटेड, दर्शन डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, एसओबी कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड, टाउनशिप डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड, शिशिर रियल्टी प्राइवेट लिमिटेड, आदि के खिलाफ कथित तौर पर यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम को धोखा देने के लिए आपराधिक साजिश का हिस्सा बनने के लिए एफआईआर दर्ज की है।

इस मामले में भी सीबीआई जांच के दायरे में हैं वधावन

एजेंसी ने 11 फरवरी 2022 को बैंक की शिकायत पर कार्रवाई की है। उल्लेखनीय है कि यस बैंक (Yes Bank) के फाउंडर राणा कपूर (Rana Kapoor) से जुड़े कथित भ्रष्टाचार के मामले में वधावन पहले से ही सीबीआई जांच के दायरे में हैं।

नीरव मोदी (Nirav Modi) और मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) पर पंजाब नेशनल बैंक से 13,000 करोड़ रुपये का बकाया लेकर भागने का आरोप है। स्टर्लिंग बायोटेक के संदेसरा पर कुल 16,000 करोड़ रुपये और विजय माल्या (Vijay Mallya) पर 9,000 करोड़ रुपये का बैंक बकाया है। CBI ने एक संयुक्त औषधि महानिदेशक से जुड़े रिश्वत मामले में बायोकॉन बायोलॉजिक्स के एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट एल प्रवीण कुमार को भी गिरफ्तार किया है।