चक्का जाम: कई राज्यों में प्रदर्शनकारियों को लिया गया हिरासत में, कुछ स्थानों में दिखा असर

Chakka Jam

 

 

-अक्षत सरोत्री

 

 

आज किसान आंदोलन के पक्ष में किसान संगठनों के चक्का जाम (Chakka Jam) कार्यक्रम का भारत के कुछ राज्यों में व्यापक असर देखने को मिला तो कुछ राज्यों में यह बेअसर रहा। हालांकि किसान नेता राकेश टिकैत ने उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में आंदोलन से इंकार किया था। पंजाब और हरियाणा में इसका व्यापक असर देखने को मिला कई जगह तो घंटों तक जाम की स्थिति देखने को मिली है।

 

दीप सिद्धू विदेशी महिला मित्र के माध्यम से कर रहा है सोशल मीडिया अकाउंट का प्रयोग

 

 

इन राजमार्गों में देखने को मिला इसका असर

 

 

इस दौरान किसानों की ओर से देश के अलग-अलग हिस्सों में शनिवार को किसानों ने राजमार्गों को जाम (Chakka Jam) कर दिया। पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, महाराष्ट्र समेत देश के कई राज्यों में किसानों का चक्का जाम देखने को मिला। किसान यूनियनों की ओर से आज राष्ट्रव्यापी ‘चक्का जाम’ किया गया। इस दौरान कृषि कानूनों और अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने कई जगह सड़कें जाम कीं। देश के अलग-अलग हिस्सों में चक्का जाम का असर देखने को मिला।

 

 

आसपास के इलाकों में इंटरनेट पर लगाई है पाबंदी

 

 

दरअसल, किसान यूनियनों के जरिए घोषणा की गई थी कि प्रदर्शन स्थलों के आसपास के इलाकों में इंटरनेट पर पाबंदी लगाने, अधिकारियों के जरिए कथित रूप से प्रताड़ित किए जाने और अन्य मुद्दों को लेकर 12 बजे से तीन बजे तक देशव्यापी चक्का जाम (Chakka Jam) के दौरान विरोधस्वरूप राष्ट्रीय और राजकीय राजमार्ग बाधित किया जाएगा और आज ऐसा ही देखने को मिला। जगह-जगह किसानों की ओर से चक्का जाम किया गया।

 

 

कई प्रदर्शनकारियों को लिया गया हिरासत में

 

 

किसानों के आज के प्रदर्शन के बाद कई जगहों पर लोगों को हिरासत में लिए जाने के मामले भी सामने आए। चक्का जाम (Chakka Jam) के तहत महाराष्ट्र के सतारा जिले के कराड शहर में ‘रास्ता रोको’ का आयोजन किया गया। वहीं कराड में कोल्हापुर नाका पर दोपहर के समय व्यस्त सड़क पर प्रदर्शन करने के चलते पुलिस ने कम से कम 40 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया, जिनमें वरिष्ठ कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण की पत्नी सत्वशीला चव्हाण भी शामिल रहीं। हालांकि बाद में सभी को रिहा कर दिया गया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *