चीन ने भारतीय सेना को लौटाए अरुणाचल प्रदेश से लापता हुए पांच नागरिक

Spread the love

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने अरुणाचल प्रदेश से लापता पांच युवाओं को रिहा कर दिया है। नाम तोच सिंगकम, प्रसात रिंगलिंग, डोंग्टू इबिया, तनु बाकर और नगारु डिरी को पीएलए ने 4 सितंबर को अगवा किया था। भारतीय सेना के बयान के अनुसार सारी औपचारिकाताएं पूरी करने के बाद सभी पांचों लोगों को किबितू में रिसीव किया गया है। वापस आए सभी लोगों को कोरोना वायरस प्रोटोकॉल के अनुसार 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन किया जाएगा और उसके बाद ही उनके परिवार को सौंपा जाएगा।

पीएलए ने मंगलवार को बताया था कि भारत-चीन सीमा से चार सितंबर को लापता हुए पांच युवा उसे सीमा के उस पार मिले हैं। युवा मामले एवं खेल राज्य मंत्री और अरुणाचल से सांसद किरन रिजिजू ने एक ट्वीट में कहा कि भारतीय सेना द्वारा हॉटलाइन पर भेजे गए संदेश में पीएलए ने स्वीकार किया कि अरुणाचल प्रदेश के पांच लापता युवक चीन में हैं।

बता दें कि अरुणाचल प्रदेश अपर सुबंसिरी के नाचो इलाके के रहने वाले पांचों युवकों का चीन के सैनिकों ने अगवा कर लिया था। भारतीय सेना के लिए पोर्टर और गाइड का काम करने वाले ये युवक जंगल में शिकार के लिए गए थे, उसी समय उनका अपहरण किया गया। इस समूह के पांच युवकों को चीनी सैनिक जबरन अपने साथ ले गए जबकि दो युवक किसी तरह बचकर अपने गांव लौट आए। इन दोनों ने ही लापता युवकों के घर में सूचना दी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *