कांग्रेस पार्टी की मजबूती के लिए इकट्ठा हुए जी -23 के नेता

 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद आज गांधी -23 के नेताओं के साथ जम्मू कश्मीर के यात्रा पर है. शनिवार को जम्मू में रैली के दौरान कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने दिल्ली से आए कांग्रेस के नेताओं का स्वागत किया.

 

 

प्राइवेट हेलीकॉप्टर में गर्लफेंड दिशा के साथ छुट्टियां मनाने निकले राहुल वैद्य, शेयर की तस्वीर.

 

पूर्व राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद ने कहा, “संसद में इन सबने जम्मू-कश्मीर की बेरोजगारी पर, राज्य का दर्जा खत्म करने पर, उद्योगों और शिक्षा को बर्बाद करने पर और जीएसटी लागू करने पर बोला है.” इस शांति सम्मेलन में आनंद शर्मा, मनीष तिवारी, भूपिंदर हुड्डा, विवेक तन्खा, कपिल सिब्बल, राज बब्बर और दूसरे नेता पहुंचे हैं.

 

 

मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली स्कॉर्पियो के मामले में मुंबई पुलिस ने दी यह जानकारी

 

महात्मा गांधी के विश्वास से गठन हुआ संविधान – 

 

इस दौरान कांग्रेस नेता राज बब्बर ने कहा, “लोग कहते हैं, ‘G23’, मैं कहता हूं गांधी 23. महात्मा गांधी के विश्वास, संकल्प और विचार के साथ इस देश के कानून और संविधान का गठन हुआ. कांग्रेस इन्हीं चीजों को आगे ले जाने के लिए मजबूती से खड़ी है. ‘G23’ चाहता है कि कांग्रेस मजबूत बने.”

 

बॉर्डर पर सेना का समर्थन – 

 

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम देश में बॉर्डर पर खड़े जवानो का आदर करता हूं साथ ही हर एक राजनीतिक दल बीजेपी से लेकर प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद करता हूं जिन्होनें संसद में विदाई पर मुझे एक बेहतर विदाई दी.

 

बेरोजगारी पर बोले आजाद – 

 

काग्रेंस नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्य की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि “संसद में इन सबने जम्मू-कश्मीर की बेरोजगारी पर, राज्य का दर्जा खत्म करने पर, उद्योगों और शिक्षा को बर्बाद करने पर और जीएसटी लागू करने पर बोला है.” इस शांति सम्मेलन में आनंद शर्मा, मनीष तिवारी, भूपिंदर हुड्डा, विवेक तन्खा, कपिल सिब्बल, राज बब्बर और दूसरे नेता पहुंचे हैं. गुलाम ने कहा कि नौकरी राज्य के बच्चो को ही मिलनी चाहिए.

 

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि आजाद एक संकल्पित कांग्रेसी नेता हैं. आजाद उन नेताओं में से हैं जो कांग्रेस को समझते हैं. कांग्रेस और यह राष्ट्र दोनों को ही गुलाम नबी आजाद के दिशानिर्देश और मार्गदर्शन की जरूरत है.

 

कांग्रेस हाई कमांड के लिए संदेश – 

 

गौरतलब है कि जम्मू में मीटिंग से पहले समूह के एक नेता ने कहा था कि यह मीटिंग कांग्रेस हाई कमांड के लिए भी एक संदेश है. उन्होंने नाम ना बताने की शर्त पर कहा, “हम पार्टी आलाकमान को बताना चाहते हैं कि हम एकसाथ हैं. हमारे पास एक मुद्दा है और उन्हें इसके लिए अवश्य कुछ करना चाहिए.” शुक्रवार को गुलाम नबी आजाद तीन दिनों के दौरे पर जम्मू पहुंचे थे तो उनका पार्टी नेताओं ने स्वागत किया था.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *