महाराष्ट्र में फिर बढ़ने लगे है कोरोना के मामले, एकटिव केसों में 29 फीसदी तक इजाफा

 

देश में कोरोना वैक्सीन की एंट्री होने के बावजूद अब आर्थिक राज्य कहे जाने वाले महाराष्ट्र में कोरोना (CORONA) का संकट गहराता जा रहा है. राज्य में अब एकटिव केस 29 फीसदी तक बढ़ गए है. वहींं बृहमुंबई नगर निकाय (BMC) के अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि मुंबई (Mumbai) के लिए अगले 15 दिन बेहद अहम हैंं. महाराष्ट्र सरकार और प्रशासन शहर में सख्ती कर रहा है. मास्क न लगाने वालों पर भारी जुर्माना लगाया जा रहा है. कई इमारतों को सील किया गया.

 

एक बार फिर कोरोना से बचने के नियमों का पालन करने के निर्देश प्रशासन ने साफ कर दिए है. नागपुर और विदर्भ में भी पाबंदियों का दौर वापस आ गया है. यहां होटलों को 50 प्रतिशत क्षमता से चलाने की अनुमति मिली है. वहीं, अंतिम संस्कार में 20 से ज्यादा लोगों के साथ आने पर पाबंदी लगा दी गई है. राज्य सरकार से मिले डेटा के अनुसार, 12 फरवरी को महाराष्ट्र में 31 हजार 479 एक्टिव मामले थे. जो रविवार को बढ़कर 48 हजार 439 पर पहुंच गया है .

 

 

गुजरात में स्थानीय निकाय चुनाव के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने किया मतदान

 

रविवार को शहर में 1582 नए मरीज मिले हैं. यह आंकड़ा दिसंबर के बाद सबसे ज्यादा है. शहर में अब तक कोरोना वायरस के 3 लाख से ज्यादा मरीज मिल चुके हैं.इस मामले में  बीएमसी के अतिरिक्त कमिश्नर सुरेश ककानी ने कहा ‘हम अनुमान लगा रहे हैं कि अगले 15 दिनों में मामले बढ़ेंगे. इसलिए शहर में कोविड-19 मामलों में बढ़त का पता लगाने के लिए अगले दो हफ्ते काफी जरूरी होंगे.’ मुंबई में बीते दो दिनों में 700 से ज्यादा मामले सामने आए हैं.

 

 

तैमूर को मिला छोटा भाई, करीना कपूर खान ने दिया अपने दूसरे बेटे को जन्म

 

एक्सपर्ट्स की माने तो एक ही परिवारों के कई मरीज संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन वे सहायता करने से मना कर रहे हैं. कई मामलों में मरीज के गलत पता देने के चलते परेशानी हो रही है. यह सब ऐसे ही चलता रहा तो हालात बेकाबू हो सकते हैं.  इसलिए जरूरी है कि लोग मामले की गंभीरता को समझेंं और प्रशासन की सहायता करें.

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *