सावधान :आपके फोन पर कोरोना वायरस 28 दिन तक जिंदा रह सकता है, रिपोर्ट से हुआ चौंकाने वाला खुलासा

Spread the love

रवि श्रीवास्तव 

दुनिया भर में कोरोना का कहर जारी है … दुनिया में कोरोना के मामले 3.77 करोड़ के पार हो चले हैं..औऱ अभी भी वैक्सीन का इंतजार सबकों है …इसी बीच कोरोना को लेकर हो रही कुछ स्टडी में नए-नए खुलासे हो रहे हैं..एक खुलासे में पता चला है कि फोन की स्क्रीन पर कोरोना वायरस 28 दिन तक जिंदा रह सकता है।

स्टडी के बाद रिसर्चकों ने ये चेताया है कि अगर फोन का इस्तेमाल अधिक करते हैं तो अलर्ट हो जाएं और इसे सैनेटाइज करना न भूलें। फोन की स्क्रीन पर कोरोनावायरस 28 दिन तक जिंदा रह सकता है। दावा ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च में किया है। वैज्ञानिकों ने अलर्ट करते हुए कहा, सिर्फ कोरोना ही नहीं फ्लू का वायरस मोबाइल स्क्रीन पर 17 दिन तक रह सकता है

फोन का इस्तेमाल हर व्यक्ति करता है..ऐसे में जाने-अनजाने में अगर कोई वायरस आपके फोन के संपर्क में आता है तो करीब एक महीने तक वो जिंदा रह सकता है ..मतलब ये कि आपका फोन आपकों संक्रमित कर सकता है ..ऐसे में कुछ सावधानियां बरतकर आप खुद को महफूज रख सकते हों.. वैज्ञानिकों ने सलाह दी है कि

फोन को सैनेटाइज करना जरूरी

फोन के अलावा किसी भी सतह को छूने से पहले उसे सैनेटाइज करना जरूरी है।

फोन को सैनेटाइज जरूर करें क्योंकि बात करते समय यह मुंह के सबसे करीब रहता है।

कोरोना दूसरे वायरस की तुलना में काफी स्ट्रॉन्ग है।

किसी भी सतह पर दूसरे वायरस के मुकाबले लम्बे समय तक जिंदा रहता है।

कोरोना अंधेरे में अधिक समय तक जिंदा रहता है

तापमान बढ़ता है तो इसका जीवन घटता है

वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर मोबाइल फोन को इस्तेमाल करने वाला लापरवाही बरतता है और हाथों को होठ, आंख और नाक तक ले जाता है तो दो हफ्ते बाद संक्रमण का असर दिख सकता है। हालांकि सबसे ज्यादा खतरा अभी भी कोरोना के ड्रॉपलेट्स से ही है।एक रिसर्च में पता चला है कि तापमान बढ़ता है तो कोरोना की पॉवर कम होती है ..मतलब वैज्ञानिकों की सलाह है कि महामारी के इस दौर में भी हर तरह की सतह को सैनेटाइज करना बेहतर है क्योंकि जब तक वैक्सीन नहीं बचाव ही इलाज है।और हो सके तो चिल्ड AC के कमरों से भी बचें .

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *