डिटैकटिव एजेंसी ने गैर-कानूनी लिंग निर्धारण टैस्ट करने वाले जालंधर के रत्न अस्पताल का किया पर्दाफाश

punjab hospital
Share

-नवदीप छाबड़ा

 

 

स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू के दिशा-निर्देशों के मुताबिक राज्य भर में लिंग निर्धारण व्यापार का भांडाफोड़ करने के लिए चलाई जा रही मुहिम के अंतर्गत रत्न अस्पताल जालंधर के डा. बलराज गुप्ता को आई.पी.सी की धारा 420, बी और पी.सी-पी.एन.डी.टी एक्ट की धारा 3,4,18 और 23 के अधीन मामला दर्ज करके गिरफ़्तार किया गया है। आज यहां जानकारी देते स. सिद्धू ने कहा कि भ्रूण हत्या और समाज विरोधी तत्व जो ऐसे ग़ैर-कानूनी व्यापार में शामिल हैं, का पूरी तरह सफाया करने के लिए राज्य सरकार ने ‘मिशन डिस्कवरी डिटैकटिव एजेंसी’ नाम की एक प्राईवेट डिटैकटिव एजेंसी की सेवाएं ली थी। उन्होंने कहा कि डिटैकटिव एजेंसी ने एस.बी.एस नगर और फतेहगढ़ साहिब की टीमों के साथ मिल कर हाल ही में ऐसी एक कार्यवाही अमल में लाई गयी थी।

 

 

उन्होंने आगे कहा कि जैसे ही स्वास्थ्य विभाग को सूचना मिली तो एक फज़ऱ्ी मरीज़ को रत्न अस्पताल भेजा गया। अस्पताल की माँग अनुसार बच्चे का लिंग निर्धारण करने के लिए 25,000 रुपए में सौदा तय हुआ। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने डा. बलराज गुप्ता और दलाल महिला को रंगे हाथों काबू किया जो अस्पताल में लिंग निर्धारण टैस्ट करवा रही थी। उसके बाद उक्त दोषियों के खि़लाफ़ थाना नंबर 4 जालंधर में केस दर्ज किया गया है। टीम की तरफ से मौके पर एक अल्ट्रासाउंड मशीन भी सील की गई है।

 

 

श्री सिद्धू ने कहा कि भविष्य में भी ऐसी कार्यवाहियां जारी रहेंगी और उन्होंने आम लोगों से अपील की कि वह ऐसी कुरीतियों के खि़लाफ़ खुल कर आगे आएं और पूरी तरह से बुराई मुक्त समाज की सृजन करने में विभाग की सहायता करें। पंजाब के लिंग अनुपात में हुए सुधार संबंधी बताते हुये स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सिवल रजिस्ट्रेशन सिस्टम, पंजाब के अनुसार वित्तीय साल 2019 -20 में जन्म के समय लिंग अनुपात 914 है जबकि वित्तीय साल 2020 -21 (अप्रैल से सितम्बर 2020) में सुधार हुआ है। अब जन्म के समय लिंग अनुपात 917 है। उन्होंने कहा कि वित्तीय साल 2020-21 (अप्रैल 2020 से सितम्बर 2020) के दौरान अस्पतालों के 1289 निरीक्षण किये गए और 23 को कारण बताओ नोटिस जारी किये गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *