इस हार के टीम इंडिया के WTC में पहुंचने का मौका कम हो गया ? यहां जानें…

-अब्दुल नबी हसन की कलम से

इंग्लैंड से पहला टेस्ट भारतीय टीम हार गई, और इस टेस्ट को हारने के बाद इंग्लैंड सीरीज़ में 1-0 से बढ़त भी बना चुकी है, मतलब साफ है इस हार से टीम को सीरीज में नुकसान हुआ है और सिर्फ सीरीज़ सीरीज ही नहीं टीम इंडिया को  वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप की रैंकिग में बड़ा नुकसान हुआ है. उसने चेन्नई टेस्ट की शुरुआत अंक तालिका में पहले स्थान से की थी और हार के बाद वो चौथे स्थान पर खिसक गई है. भारत को हराने का फायदा इंग्लैंड टीम को मिला है. वो WTC अंक तालिका में पहले स्थान पर पहुंच गई है. भारत के अब 68.3 प्रतिशत है और 430 अंक हैं. वहीं, इंग्लैंड के 70.2 प्रतिशत और 442 अंक है.

 

70 प्रतिशत और 420 अंकों के साथ न्यूजीलैंड दूसरे स्थान पर है. वहीं 69.2 प्रतिशत और 332 अंकों के साथ ऑस्ट्रेलिया तीसरे स्थान पर है. अंक तालिका में पहले दो स्थान पर रहने वाले टीमों के बीच फाइनल होगा. जून में लॉर्ड्स में खेले जाने वाले फाइनल मैच के लिए न्यूजीलैंड पहले ही क्वालिफाई कर चुका है.

 

दूसरे स्थान के लिए ऑस्ट्रेलिया, भारत और इंग्लैंड के बीच लड़ाई है. ऑस्ट्रेलिया ने अपना दक्षिण अफ्रीका दौरा कोरोना के कारण टाल दिया, जिसका फायदा न्यूजीलैंड को मिला. दौरा टलने से ऑस्ट्रेलिया की नजर भारत और इंग्लैंड के बीच जारी सीरीज पर है. भारत-इंग्लैंड सीरीज से ऑस्ट्रेलिया का भविष्य तय होगा.

वहीं, चेन्नई टेस्ट के बाद ICC की ओर से भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए एक समीकरण ट्वीट किया गया है. आईसीसी के मुताबिक, भारत WTC फाइनल के लिए क्वालिफाई कर सकता है, अगर वो सीरीज में इंग्लैंड को 2-1 या 3-1 से हरा दे.Image

वहीं, इंग्लैंड के लिए जो समीकरण बन रहे हैं उसके मुताबिक, उसे भारत से 3-0, 3-1 या 4-0 से सीरीज जीतनी होगी. ऑस्ट्रेलिया को अगर फाइनल में पहुंचना है, तो उसे ये मनाना होगा कि इंग्लैंड भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में एक से ज्यादा मैच ना हारे. इंग्लैंड की टीम अगर 1-0, 2-0 या 2-1 से सीरीज जीत लेती है, तो ऑस्ट्रेलिया फाइनल के लिए क्वालिफाई कर जाएगा. इसके अलावा सीरीज 1-1 या 2-2 से ड्रॉ रहने पर भी वह क्वालिफाई कर जाएगा.

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *