सूरज ढलने के बाद बिल्कुल भी ना करें ये काम, होगा बड़ा नुकसान

 

 

-आयुषी प्रधान

 

हमारे दिन की शुरुआत सूर्योदय और शाम की शुरुआत सूर्यास्त से होती है. सूर्योदय और सूर्यास्त के बीच के समय को दिन और रात का संधि समय भी मना जाता है। ज्योतिषशास्त्र में इस समय को काफी महत्वपूर्ण माना गया है। अगर आपने गौर किया हो तो घर के बड़े-बूढ़े कई बार शाम के समय में कुछ कामों को करने से रोकते हैं। हमारे शास्त्रों में भी सूर्यास्त के बाद कुछ कामों को करना अशुभ माना गया है। आज हम आपके ऐसे ही 5 काम के बारे में बताएंगे जिन्हें सूरज ढलने के बाद नहीं करना चाहिए।

 

भूलकर भी न करें ये गलती

 

तुलसी का पौधा लगभग हर घर में होता है। घर में तुलसी का होना बेहद शुभ माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार लेकिन सूर्यास्त के बाद तुलसी के पौधे का स्पर्श नहीं करना चाहिए और न ही उसे जल देना चाहिए। इससे धन की देवी लक्ष्मी नाराज होती हैं और घर से समृद्धि दूर हो जाती है।

 

दान करने से बचें

 

हिंदू धर्म में दान का विशेष महत्व है. खासकर जब दान में दही दी जाए। लेकिन कहा जाता है कि सूरज ढलने के बाद कभी भी दही का दान नहीं करना चाहिए। दरअसल, दही का संबंध शुक्र ग्रह से होता है और यह सुख समृद्धि में बढ़ोतरी करती है। ऐसे में शाम के समय दही का दान करने से जीवन में सुख-समृद्धि की कमी होती है।

 

सूर्यास्त के समय न सोएं

 

सूर्यास्त के समय या सूर्यास्त के बाद सोना नहीं चाहिए और ना ही भोजन करना चाहिए। इससे धन हानि होती है। इसके साथ ही स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी होने लगती हैं।

 

घर की खुशियों पर लगेगा ग्रहण!

 

सूर्यास्त के समय घर में झाड़ू-पोछा या साफ-सफाई नहीं करना चाहिए। शास्त्रों में कहा गया है कि सूर्यास्त के बाद घर में झाड़ू-पोछा करने से घर की खुशियां समाप्त होने लगती हैं। सूर्यास्त के दौरान आप पढ़ सकते हैं या फिर खेलकूद और एक्सरसाइज कर सकते हैं।

 

 

Share