लॉकडाउन के चलते परिवार को 10 दिन तक नहीं मिला खाना, भूख के कारण सभी की बिगड़ी तबियत, हॉस्पिटल में भर्ती

 

देश भर में कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन हुआ . उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में महिला और पांच बच्चों को खाना ना मिलने से तबीयत बिगड़ गई जिसके बाद बच्चों को अब अस्पताल (Hospital) में भर्ती होने के बाद एनजीओ की तरफ से परिवार को मदद पहुंचाई जा रही है.

 

काम मिलने पर घर में आता था राशन 

 

पीडित महिला गुड्डी ने कहा कि कुछ दिनों बाद घर का राशन पानी खत्म हो गया और इसके बाद हम लोगों का पेट लोगों के द्वारा दिए गए खाने से भरता रहा. इसके बाद बड़े बेटे विजय ने लॉकडाउन खुलने पर मजदूरी का काम शुरू कर दिया. उसने कहा कि जिस दिन उसे काम मिल जाता था उस दिन तो काम चल जाता था लेकिन फिर हमें भूखें ही सोना पड़ता था.

उसने बताया कि इस बीच बेटी अनुराधा की तबियत खराब होने लगी और परिवार के दूसरे लोग भी बीमार पड़ने लगे. इसी बीच कोरोनो की दूसरी लहर आ गई और लॉकडाउन लगने से विजय को मजदूरी मिलना भी बंद हो गई.

 

बेटी-दामाद ने हॉस्पिटल में भर्ती कराया

 

गुड्डी ने बताया कि मेरी बेटी और दामाद ने हमारी मदद जरुर की लेकिन बेटी दामाद की माली हालत भी ठीक नहीं है. पीड़ित परिवार का अस्पताल में अब डॉक्टर्स देखभाल कर रहे हैं और वहीं दूसरी तरफ कुछ एनजीओ भी मदद के लिए आगे आ गए हैं.

 

 

 

Share