बीजेपी, कर्मचारियों को वेतन दो या इस्तीफा दो: दुर्गेश पाठक

Spread the love

-प्रणय शर्मा, संवाददाता

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा शासित एमसीडी ने पिछले साल करीब 11000 करोड रुपए खर्च किए, वह पैसा कहां गया? निगम कर्मचारियों को वेतन क्यों नहीं मिला? निगम के कर्मचारियों के वेतन की मांग के समर्थन में धरना प्रदर्शन करने सिविक सेंटर के बाहर एकत्र हुए आम आदमी पार्टी के पार्षदों समेत महिला कार्यकर्ताओं को भाजपा ने पुलिस भेज कर पिटवाया और जेल में बंद करा दिया। क्या एमसीडी के कर्मचारियों को वेतन देने की मांग करना कानूनी जुर्म हो गया है?

आप पार्टी के नेता ने दावा किया कि एमसीडी के कुछ कर्मचारियों का कहना है कि एमसीडी के भाजपा नेता हमारी सुनवाई नहीं कर रहे। अब हमें सिर्फ आम आदमी पार्टी से ही उम्मीद है।

वहीं, आम आदमी पार्टी की वरिष्ठ नेता व विधायक आतिशी ने कहा कि अगले एक हफ्ते में भाजपा को एमसीडी के सभी कर्मचारियों का वेतन देना होगा। अगर वो वेतन नहीं दे सकते तो एमसीडी से इस्तीफा दे दें। आम आदमी पार्टी उसी बजट में एमसीडी को चलाकर दिखाएगी। पार्टी हर कर्मचारी को वेतन भी देगी और दिल्ली को साफ भी रखेगी। साथ ही, आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डाॅ. अजाॅय कुमार ने कहा कि भाजपा शासित एमसीडी पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लिप्त है। एमसीडी अपने कर्मचारियों का वेतन और पेंशन नहीं दे पा रही है। वहीं आप प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि भाजपा एक हफ्ते में एमसीडी कर्मचारियों को वेतन दे नहीं तो नगर निगम को खाली करे।

पार्टी मुख्यालय में हुई एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि पिछले कई महीनों से नगर निगम के कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल रहा है, उनके घर का चूल्हा नहीं जल रहा है, कर्मचारी काम करें तो कैसे करें? वह कैसे बिना वेतन के काम करें?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *