जीएसटी चोरी के मामले में ईडी की बड़ी कार्यवाई, 25 लोगों को लिया हिरासत में

Share

 

-अक्षत सरोत्री

 

जीएसटी चोरी के मामले में ईडी शख्त रवैया अपनाये हुए है। फेक इनवॉयस को लेकर पूरे देश में एक अभियान चलाया गया है। इस अभियान के तहत पिछले चार दिनों में अब तक 25 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। इनके खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया जाएगा। इस मुहिम के तहत एक विधायक का बेटा और दो चार्टर्ड अकाउंटेंट भी गिरफ्तार किया गया है। कई मामलों में अब फिजिकल और फाइनैंशल वेरिफिकेशन जरूरी कर दिया गया है। डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ जीएसटी इंटेलिजेंस ने कहा कि जीएसटी चोरी करने वालों के खिलाफ अभियान और तेज किया जाएगा।

 

लाॅकडाउन में भी फर्जी कंपनियों से 118 करोड़ की जीएसटी चोरी

 

 

लॉकडाउन के दौरान भी कई कारोबारियों ने फर्जी कंपनियां बनाकर उसमें 118 करोड़ रुपए से ज्यादा का बोगस बिल जारी कर दिया। विभाग के अफसरों ने घर से काम करने के बावजूद इस चोरी को पकड़ा है। वाणिज्यकर मंत्री टीएस सिंहदेव ने जीएसटी चोरी के इस खुलासे के बाद एक नोट जारी कर कहा कि लाॅकडाउन के दौरान भी विभाग सतर्क था, इसलिए टैक्स चोरी का इतना बड़ा मामला पकड़ा जा सका है। जीएसटी अफसरों ने बताया कि लाॅकडाउन के दौरान बोगस कंपनियों ने 745.58 करोड़ रुपए की सर्कुलर ट्रेडिंग की, फर्जी बिक्री दिखाई और इसके जरिए 118.47 करोड़ रुपए का जीएसटी बचा लिया। विभाग के संयुक्त आयुक्त गोपाल वर्मा के नेतृत्व में प्रवर्तन शाखा ने यह कर चोरी पकड़ी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *