दिल्ली के किसान मोदी सरकार के झूठे वादों से त्रस्त: राघव चड्ढा

Spread the love

 

-प्रणय शर्मा, संवाददाता

 

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि केंद्र में बैठी भाजपा सरकार ने पिछले 5 वर्षों में दिल्ली के एक भी किसान से एमएसपी पर फसल की उपज नहीं खरीदी है, जो यह साबित करता है कि वह किसान विरोधी है। एफसीआई ने 2015 के बाद से दिल्ली के बाजारों से एक रुपए की भी कोई खरीद नहीं की है।उन्होंने कहा हमारे अधिकारियों, मंडी अध्यक्षों, और हमारे मंत्रियों ने लगातार केंद्र को पत्र लिखे हैं और यह केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है कि वह किसानों से फसल की उपज एमएसपी पर खरीदे। राघव चड्ढा ने कहा कि पिछले पांच वर्षों में किसी भी संस्था ने हमारे किसानों की मदद नहीं की है, जिससे किसान को अपनी उपज कम कीमत में बेचनी पड़ रही है। दिल्ली के किसान भाजपा और पीएम मोदी की असंवेदनशीलता और झूठे वादों के कारण निजी व्यापारियों की दया पर निर्भर हैं।

 

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने पार्टी मुख्यालय में आज एक प्रेस वार्ता की। उन्होंने प्रेस वार्ता के जरिए खुलासा किया कि किस तरह केन्द्र में बैठी मोदी सरकार दिल्ली के किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का फायदा नहीं देकर उनके साथ धोखा कर रही है।

 

उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री ने कुछ ही हफ्तों पहले देश के किसानों से कहा था कि रिफाॅर्म बिल किसानों और मंडियों के खिलाफ नहीं है, किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का फायदा मिलता रहेगा और मंडियां भी अपना कामकाज करती रहेंगी, लेकिन दिल्ली के किसानों को तो एमएसपी का कोई फायदा ही नहीं मिला। दिल्ली का गरीब किसान जो दिन-रात कड़ी मेहनत करता है, ताकि हमारी थाली में अनाज पहुंच सके, उसके साथ यह धोखा है। केन्द्र सरकार ने दिल्ली के किसानों को बिचैलियों के हाथों में लुटने के लिए छोड़ दिया है और दिल्ली के किसान एमएसपी से कम भाव पर अपना अनाज बेचने को मजबूर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *