पंचत्व में विलीन हुए पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, नम आंखों से देश ने दी विदाई

Spread the love

 

-निशांत राय, संवाददाता

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का आज अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ लोधी रोड स्थित श्मशान घाट पर कर दिया गया। उनके बेटे अभिजीत मुखर्जी ने उन्हें मुखाग्नि दी , प्रणव मुखर्जी के अंतिम संस्कार में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया गया। प्रणव दा का पार्थिव शरीर को 10, राजाजी मार्ग स्थित उनके सरकारी आवास से लोधी रोड के श्मशान घाट तक ले जाया गया। हालांकि कोरोना के चलते श्मशान घाट पर काफी कम संख्या में लोग वहाँ पर मौजूद रहे।

प्रणव मुखर्जी को उनके घर पर जाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी , राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद समेत तमाम दिग्गजों उन्हें श्रद्धांजलि दी , श्रद्धांजलि देने वालों में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, तीनों सेना के प्रमुख, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, लोक सभा स्पीकर ओम बिरला, उप राष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू, स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी शामिल रहे ।

प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने कहा, ‘उनकी उपस्थिति हमारे परिवार का सपोर्ट था, हम उसे हमेशा याद करेंगे। मुझे लगता है कि कोविड-19 उनकी मौत का मुख्य कारक नहीं था बल्कि मस्तिष्क ऑपरेशन था। मेरी योजना उन्हें पश्चिम बंगाल ले जाने की थी लेकिन मौजूदा प्रतिबंधों के कारण हम ऐसा नहीं कर सके।’

प्रणब मुखर्जी बीते 10 अगस्त से सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती थे । पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन पर देश में 7 दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *