तालिबान के मुद्दे पर आमने सामने गनी-इमरान, तालिबान की मदद कर रहा है पाकिस्तान

 

पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच का विवाद काफी ज्यादा बढ़ चुका है. अफगानिस्तान ने पाकिस्तान से राजनयिकों को वापिस बुला लिया है.अफगानिस्तान ने यह फैसला उस वक्त लिया है जिस वक्त अफगान राजदूत की बेटी का पाकिस्तान में अपहरण हो गया था.

अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच चल रहा तनाव अब अपने चर्म पर पहुंच चुका है. दुनिया के सामने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति ने पाकिस्तान की पोल खोल दी थी. जिसके बाद पाकिस्तान ने जो किया उसने दुनिया को हैरान कर दिया. इमरान खान की बेइज्जती का बदला लेने के लिए पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के राजदूत की बेटी को अगवा कर लिया। जिसके बाद अफगानिस्तान ने अपनी राजदूत को पाकिस्तान से वापिस बुला लिया है. यह पाकिस्तान के लिए किसी झटके से कम नहीं है.

 

अफगानिस्तान पाकिस्तान में चरम पर पहुंचा तनाव

 

दरअसल 16 जुलाई को पाकिस्तान में अफगान के राजदूत नजीबुल्ला अलीखिल की बेटी का अपहरण हुआ था. हालांकि बाद में उसे रिहा कर दिया गया लेकिन रिहा करने से पहले उसके साथ बुरी तरह से मारपीट की गई थी.उसको काफी ज्यादा टार्चर किया गया। इस घटना के पीछे पाकिस्तान की आईएसआई को बताया जा रहा है. यह घटना उस वक्त हुई है जिस वक्त अफगानिस्तान खुलेआम यह आरोप लगा रहा है की पाकिस्तान तालिबान का समर्थन कर रहा है.

 

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के सलाहकार वहीद उमर ने कहा कि राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान के राजनयिकों को इस्लामाबाद से वापस बुलाया है. वहीद उमर के मुताबिक, गनी ने कहा कि राजदूत की बेटी के अपहरणकर्ताओं को न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए और पाकिस्तान में अफगान राजनयिकों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए. राजदूत की बेटी की मेडिकल रिपोर्ट में जानकारी सामने आई थी कि सिर पर प्रहार किए गए, कलाइयों और पैरों पर रस्सी से बांधे जाने के निशान हैं और उसके साथ बुरी तरह मारपीट की गई. रिपोर्ट में कहा गया कि उन्हें पांच घंटे से अधिक समय तक बंधक बनाकर रखा गया.

 

अपहरण कांड पर पाकिस्तान की चुप्पी

 

वहीं पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रसीद चिल्ली को यह समझ नहीं आ रहा है की वो क्या बोले. जब भी उनसे इस मामले पर सवाल पूछा जाता है वो अलग अलग जवाब देने लगते हैं. पाकिस्तान के गृह मंत्री शेख राशिद ने कहा कि राजदूत की बेटी का अपहरण नहीं किया गया था. उन्होंने कहा, ‘वह अपनी मर्जी से रावलपिंडी गई थीं..हमारे पास सीसीटीवी फुटेज हैं. मगर एक दिन पहले शेख रसीद चिल्ली कुछ और बोलते नजर आ रहे थे.

 

तब शेख रसीद चिल्ली ने कहा था पुलिस ने अपहरण और प्रताड़ना मामले में FIR दर्ज कर ली है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अपहरण से पहले उन्हें अलग-अलग जगहों पर ले जाने वाले टैक्सी चालकों से पूछताछ की गई है और असली अपहरणकर्ताओं को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा. लेकिन एक दिन बाद ही शेख रसीद चिल्ली के जुबान बदल गई.

 

इससे पहले अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने दुनिया के तमाम देशों के सामने पाकिस्तान को खरी खोटी सुनाई थी और बताया था की पाक दोस्ती का नाटक करके कैसे अफगानिस्तान में अशांती फैला रहा है। अशरफ गनी जब बोल रहे थे तो पाकिस्तान के पीएम बगलें झांक रहे थे. वो इस इतना ही कह पाए की वो पाक में शांती चाहते हैं.

 

पाकिस्तान अफगानिस्तान के बीच में चल रहा तनाव और बढ़ सकता है क्योंकी पाकिस्तान खुलकर तालिबान का समर्थन करने लगा है. मगर अफगान सेना तालिबान पर भारी पड़ने लगी है.

 

https://jk24x7news.tv/prithvi-shaw-played-a-stormy-innings-rumored-girlfriend-prachi-singh-gave-such-a-reaction/

Share