Uttar pradesh : उद्यमी की शिकायत सही मिलने पर सहायक प्रबंधक यूपीसीडा वाराणसी निलम्बित

औद्योगिक विकास विभाग के जो भी अधिकारी एवं कर्मचारी उद्यमियों का उत्पीड़न करते हैं, बिना किसी कमी के उन्हें परेशान करते हैं, वे सम्भल जाएं। क्योंकि अब ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों की खैर नहीं है। उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने उद्योगों के विकास की जिम्मेदारी मिलने के बाद कड़ी कार्रवाई कर बेलगाम अधिकारियों व कर्मचारियों को यह संदेश दिया है। पिछले दिनों उद्यमी द्वारा मंत्री नन्दी से मुलाकात कर की गई शिकायत के बाद मंत्री नन्दी के आदेश पर हुई जांच में वाराणसी के करखियांव औद्योगिक क्षेत्र के उद्यमी की शिकायत सही मिलने और जिम्मेदार अधिकारी की कार्रवाई गलत साबित होने पर सहायक प्रबंधक यूपीसीडा बजरंग प्रसाद मौर्य को निलम्बित कर दिया गया है।

वाराणसी के करखियांव औद्योगिक क्षेत्र में स्थित फैक्ट्री मेसर्स नेचर फ्रेश इंटरप्राइजेज लिमिटेड का 15 अप्रैल 2019 को यूपीसीडा वाराणसी की टीम द्वारा निरीक्षण किया गया था। जिसमें जांच के बाद औद्योगिक इकाई द्वारा उत्पादनरत न होना बताया गया था। जिसके खिलाफ नेचर फ्रेस इंटरप्राइजेज द्वारा शिकायत की गई थी। यूपीसीडा द्वारा की गई कार्रवाई को गलत बताया गया था।

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी से मुलाकात कर नेचर फ्रेश इंटरप्राइजेज लिमिटेड के उद्यमी द्वारा वाराणसी स्थित फैक्ट्री के बारे में गलत रिपोर्ट प्रस्तुत कर उद्यमी को उत्पीड़ित किए जाने की शिकायत की गई थी, जिस पर मंत्री नन्दी ने जांच कर यथोचित कार्यवाही के निर्देश दिए थे।
प्रारम्भिक जांच में विभाग द्वारा उद्यमी की शिकायत सही पाए जाने और विभागीय अधिकारी द्वारा की गई कार्रवाई प्रथम दृष्टया गलत पाए जाने पर मंत्री नन्दी के आदेश पर यूपीसीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी मयूर माहेश्वरी द्वारा इस मामले में दोषी अधिकारी सहायक प्रबंधक सिविल बजरंग प्रसाद मौर्य को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है।

मंत्री नन्दी द्वारा प्रत्येक सोमवार को प्रदेश के समस्त व्यापारियों, आम लोगों, सभी उत्पीड़ित या ऐसे व्यक्तियों जिनको किसी भी प्रकार की समस्या है उनकी समस्याओं को सुनकर उनका तत्काल निराकरण किया जाता है। इसी क्रम में उपरोक्त समस्या आई थी। दोषी अधिकारी के विरुद्ध अन्य शिकायतें भी संज्ञान में लाई गई थी।
इसी कड़ी में पूरे प्रदेश में सभी औद्योगिक संकुलों में अपने दौरों, आम मुलाकातों, तथा विभिन्न समय पर प्राप्त फीडबैक, सुझाव, शिकायत आदि पर लगातार सूक्ष्म दृष्टि डालकर , सही तरीके से परीक्षण कर सभी समस्याओं के निराकरण का निरंतर प्रयास मंत्री जी द्वारा किया जा रहा है। इस तरह से अब पूरे प्रदेश में इस बात का संदेश हो गया है कि उत्तर प्रदेश सरकार की उद्यम को प्रोत्साहित करने ,उद्यमिता विकास, निवेशकों के हितों तथा उत्तर प्रदेश के आर्थिक विकास को ईज ऑफ डूइंग बिज़नेस रैंकिंग में सर्वश्रेष्ठ बनाये जाने को लेकर किया जा रहा प्रयास अब किसी के भी रोके न रुकेगा। इस तरह से
हो रही कड़ाई से व्यापारी समाज के उत्पीड़न के बारे में कोई सोच भी नही सकता।
आने वाले समय मे इस तरह के उदाहरण व तत्परता से प्रदेश में अब ऐसी हरकत कोई भी अधिकारी करने के बारे में सोच भी नही सकता !