हाथरस गैंगरेप केस: सोनिया गांधी ने लिया यूपी सरकार को आड़े हाथ, पीड़िता के लिए मांगा न्याय

Spread the love

उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना को लेकर पूरे देश में आक्रोश है. गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद योगी सरकार सवालों के घेरे में है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी वीडियो जारी कर यूपी सरकार को आड़े हाथों लिया है. उन्होंने कहा कि बच्ची की लाश को परिवार को नहीं सौंपना पाप है.

 

 

सोनिया गांधी ने कहा, ”आज देश के करोड़ लोग दुखी हैं और गुस्से में हैं. हाथरस की बच्ची के साथ जो हैवानियत की गई वह हमारे समाज पर एक कलंक है. मैं पूछना चाहती हूं कि क्या लड़की होना गुनाह है. क्या गरीब की लड़की होना अपराध है. यूपी सरकार क्या कर रही थी. हफ्तों तक पीड़ित परिवार की न्याय की मांग को सुना नहीं गया. पूरे मामले को दबाने की कोशिश की गई.”

 

उन्होंने कहा, ”समय पर सही इलाज बच्ची को नहीं दिया गया. आज एक बेटी हमारे बीच से चली गई. हाथरस की निर्भया की मौत नहीं हुई है. उसे एक निष्ठुर सरकार, प्रशासन के दौरा मारा गया है. जब जिंदा थी तो उसकी सुनवाई नहीं हुई. मृत्यु के बाद उसे अपने घर की मिट्टी भी नसीब नहीं हुई. उसे परिवार को सौंपा नहीं गया. यह घोर पाप है.”

 

सोनिया गांधी ने कहा, ”जबरदस्ती करके लड़की की लाश जला दी गई. मरने के बाद भी इंसान की गरिमा होती है. हमारा हिंदू धर्म भी यही कहता है. मगर उस बच्ची को अनाथों की तरह पुलिस की ताकत से जला दिया गया है. यह कैसा न्याय है. आपको लगता है कि आप कुछ भी कर लेंगे और देश देखता रहेगा. बिल्कुल नहीं. देश आपके अन्याय के खिलाफ बोलेगा. ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कांग्रेस की तरफ से हाथरस की पीड़िता परिवार की न्याय की मांग के साथ खड़ी हूं. भारत सबका देश है. यहां सबको इज्जत की जिंदगी जीने का अधिकार है. संविधान ने हमें यह अधिकार दिया है. हम बीजेपी को संविधान और देश को नहीं तोड़ने देंगे.’’

 

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी ने भी एक वीडियो ट्वीट कर उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोला था. प्रियंका ने कहा था कि मैं यूपी के मुख्यमंत्री जी से कुछ सवाल पूछना चाहती हूं.परिजनों से जबरदस्ती छीन कर पीड़िता के शव को जलवा देने का आदेश किसने दिया था? पिछले 14 दिन से कहां सोए हुए थे आप? क्यों हरकत में नहीं आए? और कब तक चलेगा ये सब? कैसे मुख्यमंत्री हैं आप?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *