‘मक्खन गेंद’ नाम से मशहूर ये पत्थर, 7 हाथियों से भी नहीं हिला पत्थर

Spread the love

 

-नीलम रावत, संवाददाता

 

भारत में ऐसी कई अजब गजब चीजें हैं जिनके बारे में सुनकर आप चौंक जाते हैं. कई बार तो आपको इन चीजों के होने पर यकीन भी नहीं होता. लेकिन ये हकीकत में होती है. ऐसा ही एक पत्थर है महाबलीपुरम में स्थित जिसे आजतक कोई टस से मस नहीं कर पाया है.

 

मक्खन गेंद के नाम से मशहूर

 

 

कर्नाटक के महाबलीपुरम में स्थित ये पत्थर पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है. मक्खन पत्थर नाम से मशहूर इस पत्थर को देखने लोग दूर-दराज से आते हैं, और इसे उसकी जगह से हिलाने की कोशिश भी करते है. लेकिन कोई भी इस पत्थर को उसकी जगह से नहीं हटा पाता.

 

दरअसल यह पत्थर एक ढलान वाली पहाड़ी पर टिका हुआ है, लेकिन ये किसी चमत्कार से कम नहीं है कि ढलान पर टिके होने के बाद भी ये पत्थर आज तक नीचे नहीं गिरा. भयानक तूफान और आंधी भी इस पत्थर को इसकी जगह से हिलाने में नाकामयाब रही है.

 

1200 साल पुरानी चट्टान

 

 

यह चट्टान करीब 1200 साल पुरानी है. साल 1908 में स्थानीय गवर्नर ने इस पत्थर को लेकर चिंता जाहिर की थी. उन्हें इस पत्थर से दुर्घटना होने का डर था. इस पत्थर को हटाने के लिए 7 भारी-भरकम हाथियों को भी बुलवाया गया था. लेकिन 7 हाथी मिलकर भी इस पत्थर को उसकी जगह से नहीं हिला पाए थे. इस पत्थर का ऐसे टिका होना आज भी रहस्य का कारण बना हुआ है.

 

इस पत्थर को लेकर पौराणिक मान्यता है कि यह कोई साधारण पत्थर नहीं है, बल्कि श्रीकृष्ण के हाथों से गिरा हुआ माखन है. जो एक भारी-भरकम पत्थर में बदल गया. इसी कारण इस चट्टान को भगवान ‘श्री कृष्ण की मक्खन की गेंद’ के नाम से भी जाना जाता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *