हिंद की फौज से पिटने के बाद हिंदुस्तान की जासूसी पर उतर आया चीन, जानिए चीन का जासूसी नेटवर्क कहां और कितना फैला है ?

Spread the love

रवि श्रीवास्तव 

LAC पर चल रहे तनाव और भारत से हर दिन मिल रहे झटके के बाद तिलमिलाया चीन अब जासूसी करने पर उतारू हो गया है। चीन के जासूसी कांड का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। इस खुलासे के मुताबिक देश के करीब हजारों बड़ी नामी हस्तियों की जासूसी चीन कर रहा था। जिसमें पीएम मोदी राष्ट्रपति के साथ-साथ देश के चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया एस.ए बोबड़े शामिल हैं । इतना ही नहीं चीन के जासूसी वाले रडार पर हिंदुस्तान के कई बड़े बिजनेसमैन भी थे

भारत में ही करीब 10 हजार से ज्यादा हस्तियों और संगठनों की जासूसी कर रहा चीन केवल हिंदुस्तान तक ही सीमित नहीं है..बल्कि एक खुलासे और रिपोर्ट के मुताबिक दुनियाभर में चीन का जासूसी वाला नेटवर्क फैला हुआ है, चीन अमेरिका, ब्रिटेन समेत दुनियाभर के 24 लाख लोगों की जासूसी कर रहा था।जानकारी के मुताबिक चीन की सेना और खुफिया एजेंसी से जुड़ी कंपनी झेन्‍हुआ डेटा इंफॉर्मेशन टेक्‍नॉलजी कंपनी लिमिटेड ने जो ओवरसीज की इंडिविजुअल डेटाबेस OKIDB तैयार किया है, जिसमें भारत में नए स्टार्टअप शुरू करने वाले लोगों से लेकर सरकारी और प्राइवेट कंपनियों के मालिक के साथ साथ देश के बड़े नेताओं तक की जासूसी वाली सूची बनाई है

तेजी से दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा भारत कहीं सुपरपॉवर ना बन जाए इस टेंशन से चीन मरा जा रहा है ..यही वजह है कि हिंदुस्तान में हो रहे विकास और उसके अंदर की जानकारी जुटाकर चीन साजिश रचने की फिराक में हैं.. और इसकी तस्दीक तब हुई, जब देश में तेजी से बढ़ रहे डिजिटल हेल्थ सेक्टर और डिजिटल एजुकेशन सेक्टर की चीन निगरानी और जासूसी कर रहा है। भारत के प्रमुख डिजिटल पेमेंट ऐप्स भी OKIDB के डेटा बेस में शामिल हैं

कुलमिलाकर, अपने पुराने पैंतरे को अपनाकर चीन हिंदुस्तान की इकोनोमी को तबाह करने की सोच रहा है, इसलिए केवल अर्थजगत से ही करीब 1400 बड़ी हस्तियों की जासूसी कर देश की अर्थव्यवस्था की रफ्तार रोकने के ख्वाब पाल रहा चीन जासूसी को अपना सबसे अचूक हथियार मान रहा है ..हाल ही में भारत ने चीन के सैंकड़ों एप्स को बैन किया था..जासूसी कांड के बाद सरकार का फैसला एक दम सटीक साबित हुआ है..हालांकि सरकार को अब युद्धस्तर पर चीन को देश निकाला देना होगा। LAC पर जहां भारतीय सेना चीनी गोली का मुहतोड़ जवाब दे रही है.तो वहीं देश के अंदर चीन विरोधी लहर को मजबूत कर हिंदुस्तान की जनता को अपना पराक्रम दिखाकर चीन को ये समझाना होगा, कि हिंदुस्तान की संप्रभुता और अखंडता की ओर आंख दिखाने वाले की आंख हिंद की फौज ही नहीं जनता तक निकालना जानती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *