असम के बाद मध्यप्रदेश में भी मदरसों पर बैन की मांग, कैबिनेट मंत्री ने कहा मदरसों से निकलते हैं आतंकी इसलिए बंद हो सरकारी फंडिंग

Share

रवि श्रीवास्तव

 

मध्य प्रदेश में चल रहे चुनावी माहौल के बीच राज्य की कैबिनेट मंत्री ने बड़ा बयान दिया है, एमपी की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने मदरसों को लेकर दिए अपने बयान में कहा कि सभी आंतकी मदरसों से ही निकले हैं, इसलिए इनको दी जाने वाली सरकारी मदद बंद कर देनी चाहिए

 

मदरसे में पनपते हैं आतंकवादी- उषा ठाकुर 

मध्य प्रदेश की कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने दो टूक कहा कि मदरसों में ही आतंकवादी और कट्टरपंथी पलते हैं, उषा ठाकुर के मुताबिक मदरसों में  कट्टरवाद और आतंकवाद की पढ़ाई कराई जाती है, इसलिए वहां से आतंकवादी पैदा होते हैं, जो आगे जाकर जम्मू कश्मीर में आतंकी घटना को अंजाम देते हैं, उषा ठाकुर ने इन तमाम तर्कों का हावाला देते हुए अपनी ही सरकार ने राज्य से सभी मदरसों की फंडिंग रोकने की अपील की है

 

मदरसे के लिए नहीं विकास के लिए इस्तेमाल हो सरकारी पैसा 

बकौल उषा ठाकुर मदरसों को चलाने वाली संस्था वक्फ बोर्ड अपने आप में ही एक मजबूत संस्था है इसलिए इसकी शासकीय मदद बंद की जानी चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि अगर कोई पर्सनल तौर पर मदद करना चाहता है तो हमारा संविधान उसकी इजाजत देता है लेकिन हम खून पसीने की गाढ़ी कमाई को जाया नहीं होने देंगे. हम उस पैसे का इस्तेमाल विकास कार्यों में करेंगे.उषा ठाकुर ने सीएम शिवराज से बातों पर गौर करने की अपील की है

 

असम सरकार ने भी लिया था फैसला 

उषा ठाकुर का मदरसे पर ये बयान उस वक्त आया है, जब राज्य में उपचुनाव होने हैं, इसके आलावा हाल ही में असम की सरकार ने भी मदरसों को रेगूलेट करने और उन्हें सरकारी फंडिंग ना देने का फैसला किया है..दरअसल हाल ही में असम सरकार ने शासकीय खर्च से चलने वाले मदरसों को बंद करने का फैसला लिया है. असम सरकार ने कहा है कि धार्मिक शिक्षा के लिए सरकारी मदद नहीं दी जा सकती

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *