यूपी चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा जाट, मुस्लिम और अल्पसंख्यक समुदाय के पदाधिकारियों की अहम बैठक

 

उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बसपा सुप्रीमो मायावती की ओर से जाट, मुस्लिम और अल्पसंख्यक समुदाय के पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई।

 

चुनावी तैयारियों से जुड़ा हुआ बैठक का मुद्दा

 

बैठक का मुद्दा चुनावी तैयारियों से जुड़ा हुआ था। बसपा पार्टी कार्यालय में हुई बैठक से पहले बीएसपी चीफ मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दलित, ओबीसी और आदिवासियों के उत्पीडन का मुद्दा उठाते हुए सरकार पर जमकर हमला बोला।

 

मायावती ने कहा कि भाजपा की सरकार में खास वर्ग के लोगों पर फर्जी मुकदमा लगाकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। बसपा मुखिया मायावती की माने तो जब उनकी सरकार थी तब सभी वर्गों को ध्यान में रखकर उनके विकास के लिए काम किये गए। 2022 में सरकार बनने पर पूर्व की तरह जाट, मुस्लिम और ओबीसी समेत सभी वर्गों के विकास से जुड़े काम किये जायेंगे। लखनऊ के कार्यालय में हुई महत्वपूर्ण बैठक में मायावती ने जाट, मुस्लिम और ओबीसी वर्ग के पदाधिकारियों को आगामी चुनाव में जीत का मंत्र भी दिया।

 

यूपी की जनता को साधने की कोशिश

 

गौरतलब है कि देश के सबसे बड़े राज्य यानी उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले तमाम राजनीतिक पार्टियां यूपी की जनता को साधने की पूरी कोशिश कर रही हैं . बीजेपी आलाकमान ने भी राज्य में बड़ी चुनावी जीत के लिए पूरा जोर लगा दिया है.