इमरान खान का श्रीलंका दौरा अचानक हुआ रद्द, बताया जा रहा है कश्मीर मसला

Imran Khan

 

-अक्षत सरोत्री

 

 

पाकिस्तान जो करनी (Imran Khan) करता है उसे उसका फल भुगतना पड़ता है। इस बार भी ऐसा ही हुआ है की पाकिस्तान को श्रीलंका में बेइज्जती का सामना करना पड़ा। श्रीलंका ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की भारी बेइज्जती कर दी। इमरान अगले सप्ताह श्रीलंका की संसद में बोलने की तैयारी में जुटे थे और इस बीच अचानक प्रोग्राम कैंसल कर दिया गया है। माना जा रहा है कि श्रीलंका ने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि इमरान खान इस मौके का दुरुपयोग करते हुए कश्मीर पर बोल सकते थे।

 

राजनायिकों के दौरे के दौरान श्रीनगर में आतंकी हमला, मुठभेड़ जारी

 

यह कहना है अधिकारियों का

 

 

अधिकारियों ने पाकिस्तान को इसके लिए कोरोना संबंधी प्रतिबंधों को वजह बताया है, लेकिन कोलंबो में इस मामले की जानकारी (Imran Khan) रखने वाले लोगों ने पहचान गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि सरकार ने इस बात पर दोबारा विचार किया है कि यदि इमरान अपने भाषण में कश्मीर का मुद्दा उठाते हैं तो इसका क्या असर होगा। श्रीलंका के स्पीकर महिंद्रा अबेवर्देना ने पिछले सप्ताह राजनीतिक दलों के नेताओं को बताया था कि इमरान खान 22 फरवरी से दो दिवसीय दौरे पर संसद को संबोधित करेंगे।

 

 

24 फरवरी को होना था भाषण

 

इमरान खान 24 फरवरी को संसद में (Imran Khan) बोलने वाले थे। खान राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे, प्रधानमंत्री महिंद्रा राजपक्षे और विदेश मंत्री दिनेश गुनावर्देना से भी मुलाकात करने वाले हैं। ऊपर उल्लेख किए गए शख्स ने बताया, ”लगता है संसद में संबोधन को लेकर पहले ठीक से विचार नहीं किया गया था। इमरान खान की ओर से कश्मीर मुद्दा उठाए जाने की संभावना को लेकर सरकार के भीतर काफी चर्चा हुई है। इसके बुरे असर की संभावना का आकलन करते हुए श्रीलंका ने इमरान खान के संबोधन को कैंसल करना ही बेहतर समझा।

 

 

हर जगह कश्मीर का राग अलाप रहा है पाकिस्तान

 

 

पाकिस्तान की सरकार (Imran Khan) कश्मीर मुद्दे को हर अंतरराष्ट्रीय फोरम पर उठा रही है, खासकर अगस्त 2019 में कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद से। पाकिस्तान ने पिछले साल भारत की ओर से कोरोना महामारी पर बुलाई गई सार्क देशों की वुर्चुअल बैठक में भी यह रोना रोया।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *